व्यावसायिक शिक्षा से आप क्या समझते हैं?

व्यावसायिक शिक्षा दो शब्दों के संयोग से निर्मित है। जिसमें पहला शब्द व्यवसाय एवं दूसरा शब्द शिक्षा है। ’’व्यवसाय’’ शब्द जीविकोपार्जन के लिए अपनाये जाने वाले कारोबार के अर्थ में है तथा शिक्षा-संबंधित व्यवसाय के प्रशिक्षण युक्त सीखने से है। तात्पर्य-व्यावसायिक शिक्षा वह शिक्षा है जो व्यवसाय संचालन संबंधी जानकारी प्रदान करती है। व्यवसाय व […]

मध्य मस्तिष्क के भाग और उनके कार्य

मस्तिष्क के मध्य भाग को मध्य मस्तिष्क के रूप में जाना जाता है इसका दूसरा नाम मेसनसिफेलोन (mesencephalon) है। इसके दो भाग हैं टेक्टम और टेगमेन्टम। मध्य मस्तिष्क सफेद पथ और रेटीकुलर फोरमेशन से बना है। इसका कार्य मध्य मस्तिष्क और प्रमस्तष्क के बीच आवेगों को प्रसारित करना है। इसमें निम्न कोलीकुली (Inferior Colliculi) होते […]

मताधिकार किसे कहते हैं, मताधिकार की आयु

संविधान के अनु0 326 के अनुसार संसद और राज्य विधान मण्डलों के लिए निर्वाचन वयस्क मताधिकार के आधार पर होगा। प्रत्येक वह व्यक्ति जो भारत का नागरिक है तथा 18 वर्ष की आयु पूरी कर चुका है तथा अनिवास, चित्त, विकृति, अपराध या भ्रष्ट आचरण के कारण विधि द्वारा अयोग्य घोषित न किया गया, मत […]

पंडित भीमसेन जोशी का जीवन परिचय

पंडित भीमसेन जोशी का जीवन परिचय  पंडित भीमसेन जोशी का जन्म 4 फरवरी 1922 में कर्नाटक राज्य के धारवाड़ जिले में हुआ। पंडित भीमसेन जोशी जी को बचपन में ही घर में संगीत का भरपूर वातावरण मिला, पंडित जी को संगीत से लगाव अपनी माँ के कारण हुआ जो अकसर भजन गाया करती थीं, पंडित […]

संविधान किसे कहते हैं हमें संविधान की क्या आवश्यकता है?

संविधान एक ऐसा दस्तावेज है जिसके अनुसार किसी देश की सरकार का कार्य चलाया जाता है। इसमें सरकार के विभिन्न अंगों के आपसी संबंधों तथा सरकार एवं नागरिकों के संबंधों का वर्णन रहता है। इसमें केन्द्रीय सरकार तथा राज्य सरकारों आदि उत्तरदायित्वों का ब्यौरा भी होता है। संविधान में राष्ट्रीय उद्देश्यों अर्थात् किस प्रकार का समाज […]

प्राचीन भारतीय इतिहास जानने के स्रोत

इतिहासकार प्राचीन भारतीय इतिहास को तीन भागो में बाॅटते हैं। वह काल जिसके लिये कोई लिखित साधन उपलब्ध नहीं है जिसमें मानव का जीवन अपेक्षाकृत पूर्णतया सभ्य नहीं था, ‘प्रागैतिहासिक काल‘ कहलाता है। प्रागैतिहासिक काल के अन्तर्गत पाषाणकाल की गणना होती है। वह काल जिसके लिए लेखन कला के प्रमाण तो हैं किन्तु या तो […]

भारत की परमाणु नीति (दक्षिण एशिया में परमाणविक शक्ति संतुलन के विशेष सन्दर्भ में)

परमाणु हथियारों के विकास ने राष्ट्रीय सुरक्षा के क्षेत्र में चिन्तन को नई दिशा प्रदान की है। प्रत्येक राष्ट्र चाहे वह कितना भी महान हो, बिना परमाणु हथियारों के शक्तिशाली नहीं बन सकता है। इसी सोच ने राष्ट्रों को ‘शान्ति की दौड़’ के बजाय ‘हथियारों की होड़’ में लगा दिया। अपनी सुरक्षा चिन्ताओं के कारण […]

इतिहास क्या है?

इतिहास शब्द की उत्पत्ति ग्रीक शब्द ‘हिस्टोरिया’ (Historia) से हुई है जिसका अर्थ ‘खोजना या जानना’ है। यह शब्द अतीत की घटनाओं की ओर संकेत करता है। ‘History’ शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग ग्रीक लेखक हेरोडोटस ने किया था। इसीलिए उसे इतिहास का पिता कहा जाता है।  History का भारतीय शब्द ‘इतिहास’ है। इतिहास शब्द ‘इति+ह+हास’ […]

भाषा विज्ञान की परिभाषा और भाषा विज्ञान के क्षेत्र

भाषा के वैज्ञानिक अध्ययन को भाषा विज्ञान कहते हैं। भाषा विज्ञान की प्रक्रिया शुरू हुए दो शताब्दी हो चुकी है। भाषा विज्ञान के लिए समय-समय पर अनेक नाम दिए गए हैं। भाषा विज्ञान सर्वाधिक प्रचलित होने के साथ सहज रूप में भाषा के वैज्ञानिक अध्ययन का भाव प्रकट करता है। भाषा विज्ञान की परिभाषा विभिन्न […]

अर्थव्यवस्था किसे कहते हैं?

अर्थव्यवस्था किसे कहते हैं? प्रत्येक अर्थव्यवस्था का मुख्य उद्देश्य अपने देश में उपलब्ध सीमित साधनों के प्रयोग से मानव की असीमित आवश्यकताओं की संतुष्टि है। मनुष्य की आवश्यकताएं वस्तुओं एवं सेवाओं के उत्पादन से संभव है। उत्पादन के पश्चात् जिसे व्यक्ति उपभोग करता है। उत्पादन के साधन आर्थिक गतिविधियों द्वारा उत्पादन की प्रक्रिया पूर्ण करते […]