ईथर बनाने की विधि

By | February 16, 2021



विलियमसन संश्लेषण- 
इस विधि में एल्किल हैलाइड के हैलीजेन परमाणु का
ऐल्कॉक्सी समूह द्वारा प्रतिस्थापन कराने पर थर बनते हैं। एल्किल हैलाइड की
अभिक्रिया ऐल्कोहॉल या फीनॉल के सोडियम या पौटेिशयम लवण से करायी जाती है।

ऐल्कोहॉलो के निर्जलीकरण से – 
ऐल्कोहॉलो को सांद्र H2SO4 के साथ उचित
ताप पर गर्म करने पर जल अणु निकल जाती हैं और थर बनते हैं।

प्रयोगशाला में डाइएथिल थर इसी विधि से बनाया जाता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *