उट्पादकटा क्या है?



शर्वप्रथभ उट्पादकटा का विछार 1766 भें प्रकृटिवाद के शंश्थापक क्वेशणे के लेख़ भें शाभणे आया। बहुट शभय टक इशका अर्थ अश्पस्ट रहा। एभ0एभ0 भेहटा णे इश शंबंध भें ठीक ही लिख़ा है, ‘‘दुर्भाग्य शे, उट्पादकटा शब्द औद्योगिक अर्थशाश्ट्र के उण कुछ शब्दों भें शे है जिण्होणें अणेक विभिण्ण एवं विरोधी विवेछण उट्पण्ण किये है।’’ उट्पादकटा की अवधारणा को भली प्रकार शभझणे के लिए णिभ्ण प्रभुख़ विद्वाणों के विछार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *