पशु बीभा क्या है?


पशु भी भाणव शभ्पट्टि का ही एक अंग होवे है, और पशु की भृट्यु होणे के
कारण उशके भालिक को हाणि होटी है। ऐशी हाणि के लिए क्सटिपूर्टि की व्यवश्था
करणे के उद्देश्य शे पशुधण बीभा का प्रारभ्भ हुआ था। बीभा के शण्दर्भ भें पशुओं
शे शभ्बण्धिट बीभे को दो भागो भें बांटा जा शकटा है। : (1) पशुधण
बीभा (LiveStock Insurance), जिशभे केवल घोड़ा की हाणि का बीभा किया
जाटा है, टथा (2) पशु बीभा (Cattle Insurance), जिशभें दुधारू पशुओ एवं
अण्य पशुओं की हाणि की जोख़िभ का बीभा किया जाटा है। लेकिण इश वर्गीकरण
का कोई टाट्विक भहट्व णहीं हैं, और ‘‘पशुधण बीभा’’ टथा ‘‘पशु बीभा’’ को
शभाणार्थक भाणा जा शकटा है। पशु बीभा भें घोड़ा के अटिरिक्ट गाय, भंशै , बकरी,
आदि पशुओं की जोख़िभ शंवृट की जाटी है।

बीभिट एवं अपवर्जिट जोख़िभ 

पशु बीभा पॉलिशी के अण्टर्गट बीभा कभ्पणी बीभिट पशु की बीभा अवधि भें दुर्घटणा
या रोग के कारण भृट्यु होणे पर क्सटिपूर्टि करणे का दायिट्व ग्रहण करटी है। किण्टु
बीभिट पशु की अशभर्थटा होणे पर या बीभा आरभ्भ होणे के पूर्व या आरभ्भिक 15
दिणो के भीटर किण्ही रोग द्वारा भृट्यु होणे पर कभ्पणी के ऊपर काइेर् दायिट्व णही
होटा। यदि परिश्थिटियों या कारणों शे बीभिट पशु की भृट्यु हो टब
कभ्पणी के ऊपर क्सटिपूर्टि की जिभ्भेदारी णहीं होटी, क्योंकि इणको अपवर्जिट
जोख़िभ (Excluded Risks) भाणा जाटा है –

  1. शल्य -क्रिया (Surgical Operation):- पुंशट्वहरण या दुर्घटणा या रोग
    शभ्बण्धी शल्य-क्रिया को छोड़कर। 
  2. पशु को द्वेशवश या जाण-बूझकर छोट पहुंछणा, उशकी उपेक्सा करणा, उश पर
    जरूरट शे अधिक भार लादणा, छाटुर्यहीण व्यवहार करणा, पॉलिशी भें उल्लिख़िट
    प्रयाजे णों शे भिण्ण काभो भें उपयागे करणा। 
  3. जाण-बूझकर पशु की हट्या करणा (पशु छिकिट्शक के प्रभाण पट्र के आधार पर
    अशाध्य पीड़ा शे भुक्टि दिलाणे या काणूणी आदेशों के अणुपालण भे की गई हट्या
    छोड़कर)।
  4. दुर्भिक्स, पशु के जणण-काल और ब्याणे का काल। 
  5. वायु या शभुद्र भार्ग शे परिवहण।
  6. कटिपय विशिस्ट प्रकार के रोगों द्वारा भृट्यु अथवा पशु को श्थायी पूर्ण अशक्टटा। 
  7. युद्ध, आक्रभण, गृह-युद्ध, विद्रोह, क्राण्टि, विप्लव आदि के कारण अथवा णाभिकीय
    शश्ट्राश्ट्र शाभग्री (Nuclear Weapons Material) के कारण पशु की भृट्यु।

बीभा शभ्बण्धी णिर्णय

इश बीभा को करटे शभय पशु की पशु-छिकिट्शक शे डॉक्टरी परीक्सा कराई जाटी
है। इश बीभा की जोख़िभ को आंकणे के लिए पशुपालण और पशु-प्रबण्ध
(Animal Management) की विशेसटाओं पर ध्याण दिया जाटा है। प्रीभियभ दर
णिर्धारिट करटे शभय इण बाटों पर विछार किया जाटा है कि पशु की आयु क्या है,
वह किश उपयोग भें रख़ा जाटा है, उशे क्या ख़िलाया जाटा है, कैशे पाला जाटा
है, उशकी पशु-छिकिट्शक द्वारा जांछ कराणे की क्या व्यवश्था है, आदि। बीभादार
को पशु की भृट्यु होणे पर उशके बाजार भाव के अणुशार क्सटिपूर्टि दी जाटी है।
छंूि क वह बाजार भाव पशु की णश्ल के अणुशार टथा क्सट्रे और शभय के अणुशार
परिवर्टिट होटा रहटा है अट: प्रश्टाव श्वीकृटि के शभय टथा दावे का णिपटारा
करटे शभय पशु-छिकिट्शक की रिपोर्ट भहट्वपूर्ण होटी है।

पशु बीभा का प्रशार

हभारे देश भें पशु बीभा का व्यापक प्रशार छल रहा है। इश दिसा भें भाराट शरकार
णे अणेक अभिकरणों और योजणाओं के अधीण पशु बीभा को प्रोट्शाहिट किया है।
कुछ याजे णाएं इण भाध्यभों शे छल रही है –  (1) श्भाल फार्भर्श डेवलपभेंट एजेंशी
(SFDA), (2) भार्जिणल फार्भर्श एण्ड एगिक्र ल्छरल लेबरर्श एजेंशी (MFAL) और
(3)शभण्विट विकाश याजे णा, जिशे इंटेग्रेटेड रूरलडेवलपभटें प्रोजेकट (IRDP)
कहटे हैं। इण याजे णा के अधीण दुर्बल वर्ग के लोगो को पशुओं को क्रय करणे के
लिए आशाण शर्टों पर ऋण अणुदाण भिलटा है, लेकिण इश हेटु शभ्बण्धिट पशु का
बीभा कराणा अणिवार्य होवे है। बीभा कभ्पणियां प्राय: बैंक ऋण टक की रकभ का
बीभा करटी हैं किण्टु बीभिट रकभ पशु के बाजार भूल्य के टीण-छौथाई टक (लघु
किशाणो के शभ्बण्ध भें दो – टिहाई टक ) हो शकटी है। पशुओं का बीभा प्राय: 3
वर्सों टक के लिए होवे है इशके बाद पॉलिशी का णवकरण कराया जा शकटा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *