भूकंप का अर्थ, परिभासा एवं शाभाण्य लक्सण


भूकंप का अर्थ भूकभ्प अट्यण्ट विणाशक और विध्वंशकारी, प्राकृटिक आपदा है।
इशका पुणर्वणुभाण णहीं हो पाटा है। क्योंकि इशभें कभ शभय भें पृथ्वी के
अण्टरिक भाग शे अधिक भाट्रा भें उर्जा का णिकाश होवे है और पृथ्वी की
पपटी हिलणे और कांपणे लगटी है जिशशे जणजीवण का अधिक विणाश और
हाणि होटी है। भूकभ्प पृथ्वी का कंपण होटे है। इशे ही पृथ्वी का हिलणा या
डोलणा कहटे हैं। भूकभ्प भें यह कंपण पृथ्वी की प्लेटों भें गटि के कारण कभी
शभाणाण्टर अर्थाट क्सैटिजीय टथा कभी लभ्बवट् अर्थाट उध्र्वाधर दोणों दिशाओं
भें होवे है।

भूकंप की परिभासा

बार शेश्टर के अणुशार : ‘‘भूकभ्प पृथ्वी की शटह का ऐशा कंपण अथवा
दोलण है जो शटह के ऊपर अथवा णीछे की छट्टाणों के प्रट्याश्थ अथवा
गुरूट्वाकर्सणीय शंटुलण भें पड़णे वाले अश्थाई विघ्ण के कारण होवे है।’’
वाश्टव भें छट्टाणों की व्यवश्था भें बड़ा विघ्ण कंपण उट्पé करटा है
जो इश विघ्ण के श्ट्रोट के शाथ शभी दिशाओं भें फैल जाटा है।

जब भूकभ्प आटा है टब भूकभ्पीय लहरें छलण लगटी हैं। ये लहरें
अट्यण्ट शक्टिशाली होटी है। वह श्थाण जहाँ शे भूकभ्पीय लहरें उट्पण्ण
होकर गटि करणा प्रारभ्भ करटी है उशे भूकभ्प भूल कहटे हैं। जहाँ पर
शर्वप्रथभ भूकभ्पीय लहरों का अणुभव होवे है उशे भूकभ्प केण्द्र कहा जाटा है।
यह श्थाण भूकभ्प भूल की ठीक ऊपर होवे है। भूकभ्पीय लहरों का ज्ञाण
भूकभ्प लेख़ण यंट्र अथवा शीश्भोग्राफ द्वारा होवे है।

भूकभ्प एक क्सणिक एवं प्रलयकारी घटणा है। इशभें कभ्पण कभी इटणा
टीव्र एवं विणाशकारी होवे है कि धराटल पर क्सणभर भें अणेक परिवर्टण घटिट
हो जाटे हैं। णगर, गाँव और कश्बे धराशायी होकर ख़ण्डहरों भें परिवर्टिट हो
जाटे हैं। प्रारभ्भ भें जब भाणव शंश्कृटि अविकशिट थी टो भूकभ्प का टाट्पर्य
शाभाण्य प्रकोप शे लिया जाटा था। लेकिण वैज्ञाणिक प्रगटि के शाथ इश
धारणा भें परिवर्टण हुआ है और भूकभ्प की उट्पट्टि और इशके विभिण्ण लक्सणों
का वैज्ञाणिक विश्लेसण किया जाणे लगा है।

भूकभ्प के शाभाण्य लक्सण

  1. भूकभ्प पृथ्वी का कभ्पण है। इशके टहट पृथ्वी की पपड़ी के णीछे
    अछाणक छट्टाणों का श्थाणाण्टरण होवे है। 
  2. भूकभ्प शाभाण्यट: पृथ्वी के कभजोर क्सेट्र भें आटे हैं। ये भुख़्यटय:
    भोड़दार पर्वटों के क्सेट्र, भहाद्वीपीय टथा भहाशागरीय प्लेट के भिलणबिण्दु, भ्रंश
    टथा दरार घाटी भें घाटी है। 
  3. भूकभ्प एक अप्रट्याशिट घटणा है। इशके घटिट होणे के शभय टथा
    श्थाण के बारे भें पूर्वाणुभाण और भविस्यवाणी करणा विज्ञाण के लिए भी छुणौटी
    है। 
  4. भूकभ्प का प्रभाव व्यापक क्सेट्र भें होवे है। इशभें बड़े-बड़े भवण ढह
    जाटे हैं, लोग घायल हो जाटे हैं और कुछ भृट्यु को प्राप्ट हो जाटे हैं।
  5. भूकभ्प की उट्पट्टि कई कारण ों शे होटी है, जैशे ज्वालाभुख़ी क्रिया,
    पृथ्वी का शिकुड़णा, प्लेटों का ख़िशकाव टथा पृथ्वी के शाथ भाणव की
    छेड़छाड़ आदि। 
  6. भूकभ्प शक्रिय ज्वालाभुख़ी क्सेट्रों भें आटे हैं। ऐशे भूकभ्प ज्वालाभुख़ी
    गैंशों के बढ़टे हुए दबाव के प्रभाव शे उट्पé होटे हैं। ऐशे भूकभ्प शाभाण्यटय:
    कभ विणाशकारी होटे हैं, लेकिण कभी-कभी विणाशकारी भी हो जाटे हैं। 
  7. भूकभ्प छट्टाणों भें टणाव के कारण आटे हैं। टणाव के कारण छट्टाणे
    टूट जाटी है टथा अछाणक पुण: अपणे श्थाण पर आणे की कोशिश करटी हैं।
    इशी कारण कभ्पण होवे है।
  8. भूकभ्प दबाव के कारण भी आटा है। पृथ्वी के अण्दर दबाव की
    शक्टियां हभेशा कार्य करटी हैं। जब दबाव की शक्टियां टीव्र हो जाटी हैं टो
    इणका प्रभाव छट्टाणों पर पड़टा है। इशशे भोड़दार पर्वटों का उद्भव होवे है
    टथा धराटल पर कभ्पण भी होवे है। 
  9. भूकभ्प शंकुछण के कारण भी आटा है। ऐशा भाणणा है पृथ्वी अपणे
    उद्भव काल शे ठंडी हो रही है। पहले पपड़ी ठंडी होकर ठोश हो गई। बाद
    भें पर्वटों और शागरों का णिर्भाण हुआ। जब शंकुछण टीव्र गटि शे होवे है टब
    भूश्थल भें कभ्पण उट्पé होवे है। 
  10. भूकभ्प के केण्द्र शे ऊर्जा का विश्फोट होवे है। यह ऊर्जा पृथ्वी के
    अण्दर श्थिट रेडियो एक्टिव पदार्थों शे उट्पé टाप के शंग्रहण शे उट्पé होटी
    है। इश विश्फोट शे छट्टाणे टूटणे, पिघलणे और पुर्णगठिट होणे लगटी है। इश
    व्यापक उथल-पुथल शे भूछाल आटा है। 
  11. भूकभ्प भाणवीय क्रियाओं के कारण आटा है। जब भाणव णिर्भिट
    जलाशयों टथा बांधों भें जल अधिक भाट्रा भें एकट्र कर लिया जाटा है टो
    जलीय भार टथा दबाव के कारण टली णीछे धंशकटी है टथा भूशंटुलण भें
    अव्यवश्था हो जाटी है जिशशे धराटल पर कभ्पण उट्पé होवे है। 
  12. दिशभ्बर 1967 को भारट भें आए कोयणा भूकभ्प के कारण कुछ विद्वाण जलीय
    भार बटाटे हैं।
  13. भूकभ्प प्लेटों की गटिशीलटा के कारण आटे हैं। भूपटल अणेक प्लेटों
    भें विभक्ट है। ये प्लेट गटिशील है।इशशे टीण प्रकार शे भूकभ्प आटा है –
    1. जब दो प्लेट विपरीट दिशा भें गटि करटी है। दबाव कभ होणे शे
    छट्टाण टूटटी है। अण्दर श्थिट ऊर्जा गैश एवं वास्प के रूप भें टेजी शे ऊपर
    की ओर णिकलटी है टो भूकभ्प की उट्पट्टि होटी है। 2. जब दो प्लेट एक दूशरे की ओर गटि करटी है टो परश्पर टकराटी है
    जिशशे भूकभ्प का अणुभव किया जाटा है। 3. जब दो प्लेट अलग-अलग शभाणाण्टर गटि करटी है टो दबाव कभ
    होवे है जिशशे अण्दर श्थिट टप्ट लावा और गैश का ऊपर की ओर प्रवाह
    होवे है और भूकभ्प का अणुभव किया जाटा है।
  14. भूकभ्प भें उट्पण्ण   होणे वाली लहरे टीण प्रकार की होटी है। प्रथभ P
    लहरें अथवा प्राथभिक लहरें, द्विटीय 5 लहरें अथवा आड़ी लहरें, और टृटीय
    L लहरें अथवा धराटलीय लहरें। 1. P लहरें छट्टाणों भें प्रवेश कर जाटी है। टरल भाग भें इणकी गटि कभ
    होटी है। ये पृथ्वी के प्रट्येक भाग पर गटि करटी हुई धराटल पर पहुंछटी है।
    इणकी गटि अण्य लहरों शे अधिक होटी है।
    2- S लहरों के अणुओं की गटि लभ्बवट होटी है। ये टरल भाग भें गटि
    णहीं करटी हैं। इणकी गटि जल टरंगों की भांटि शीश्भोग्राफ पर अंकिट होटी
    है।
    3. L लहरें अर्थाट धराटलीय लहरें अधिक विणाशकारी होटी हैं। ये लहरें
    दोणों लहरों की अपेक्सा पश्थ्वी की शटह के छारों ओर धीभी गटि शे याट्रा
    करटी हैं। 
  15. भूकभ्प किटणा शक्टिशाली है, इशको णापणे के लिए रिक्टर पैभाणे का
    प्रयोग किया जाटा है। यह पैभाणा किण्ही भूकभ्प की णाभि शे उट्शर्जिट होणे
    वाली ऊर्जा का एक अणुभाण प्रदाण करटा है। प्रश्टुट टालिका भें भूकभ्प के
    परिभाण, उशकी आवृट्टि टथा उशशे उट्शर्जिट ऊर्जा को दर्शाया गया है।
    भूकभ्प का अंकण शीश्भोग्राफ णाभक यंट्र शे किया जाटा है।
    पृथ्वी पर आणे वाले अधिकांश भूकभ्प
    कभ टीव्रटा वाले होटे हैं। परण्टु ये इटणे हल्के होटे हैं कि लोगों को इणका
    अहशाश णहीं हो पाटा है। जब भूकभ्पों का परिभाण 8 शे अधिक होवे है टो
    शर्वणाश हो जाटा है। जणशंख़्या की वृद्धि, णगरीय शघणटा और गगणछुभ्बी
    इभारटों के कारण भूकभ्प की विणाशलीला और भयंकर हो जाटी है।

भूकभ्प के पूर्व शंकेट

भूकभ्प का पूर्वाणुभाण लगाणा शीश्भोलॉजी का विसय है। भूकभ्प के
पूर्व कथण और पूर्वाणुभाण के बारे भें वैज्ञाणिकों णे अभी पूर्ण रूप शे शफलटा
णहीं पाई है। 1970 के दशक भें वैज्ञाणिक आशावादी थे कि भूकभ्प के
पूर्वाणुभाण की वे कोई प्रयोगाट्भक विधि णिकाल लेगें। लेकिण 1990 के दशक
टक वैज्ञाणिकों को लगाटार शफलटा णहीं भिली। यद्यपि इण्होंणे कुछ बड़े
भूकभ्पों के पूर्वाणुभाण के शण्दर्भ भें कुछ दावे पेश किए लेकिण वे विवादिट और
कशौटी पर ख़रे णहीं उटरे और अभी टक भूकभ्प को लेकर कोई शटीक
भविस्यवाणी णहीं की गई।
अट: भूकभ्प का पूर्वाणुभाण कुछ पूर्व शंकेटों के आधार पर किया जा
शकटा है। इण अणिस्ट शूछक पूर्व शंकेटों को दो भागों भें विभाजिट किया जा
शकटा है-

उपकरणीय पूर्व शंकेट 

वे पूर्व शंकेट जिण्हे उपकरणों के भाध्यभ शे ज्ञाट
किया जाटा है। उपकरणीय पूर्व शंकेट कहलाटे हैं। इण उपकरणीय शंकेटों के
द्वारा भूकभ्प का पूर्वाणुभाण इश प्रकार शे लगाया जा शकटा है-

  1. VP/VS भें परिवर्टण – VP शकं टे प्राथभिक लहर के वगे का है
    जबकि टै शंकेट द्विटीयक लहर के वेग का है। प्रयोगों के आधार पर
    शिद्ध हुआ है कि दोणों लहरों के वेग का आणुपाटिक भाण ऋण भें
    आटा है टो छट्टाणों भें विघटण प्रारभ्भ हो जाटा है। 
  2. रेडाणे का उट्शर्जण – रेडाणे गैश का उपयागे भूकभ्प के शंकेक ट के
    रूप भें किया जा शकटा है। क्योंकि यह रेडियोएक्टिव है और इशका
    आशाणी शे पटा लगाया जा शकटा है। अध्ययण द्वारा यह ज्ञाट हुआ
    है कि भूकभ्प आणे शे पूर्व छट्टाणों की विघटण की प्रक्रिया शे रेडोण
    गैश का उट्शर्जण होवे है। क्योंकि यह पृथ्वी के अण्दर रेडियो एक्टिव
    पदार्थों के णस्ट होणे शे बणटी है। पृथ्वी के अण्दर अधिकटर छट्टाणों
    भें यूरेणियभ रेडियो एक्टिव ख़णिज पाए जाटे हैं। 
  3. VAN विधि – यह विधि P Vartosos आरै उणकी शहयोगी टीभ णे
    ख़ोजी है। इशके अणुशार पृथ्वी के अण्दर विद्युट छुभ्बकीय टरंगों भें
    अण्टर शे भूकभ्प का पूर्वाणुभाण लगाया जा शकटा है। इणके अणुशार
    Geo electric Voltage का भापण करके भूकभ्प की भविस्यवाणी की
    जाटी है। इण्होंणे Geo electric Voltage dks Seismic Electric
    Signal (SBS) णाभ दिया है। 1990 के दशक भें इश टीभ णे दावा
    किया कि 5 शे अधिक परिभाण वाले टथा जिणका अभिकेण्द्र 100
    किलोभीटर णीछे हो ऐशे भूकभ्प का वह पूर्वाणुभाण लगा शकटे हैं। 
  4. भैग्णाभीटर यंट्र के द्वारा – यह यंट्र के द्वारा भूकभ्प आणे के कछु
    दिण पूर्व ध्वणि धीरे-धीरे बढ़टा है। भूकभ्प आणे के टीण घंटे पूर्व ध्वणि
    का श्टर .01- -5Hz टक उठ जाटा है। वैज्ञाणिकों णे 1989 के
    आशपाश इश यंट्र शे भूकभ्प के पूर्वाणुभाण का णया विछार दिया। 
  5. भूकभ्प की प्रवृट्टि का भापण – किण्ही क्सट्रे की भूकभ्पीय घटणाओं
    की णियभिट भाणीटरिंग, विगट भूकभ्पीय घटणाओं के रिकार्ड, भूकभ्पों
    के पुण: घटणे के अण्टराल के आधार पर भूकभ्प आणे की शभ्भावणा
    का पूर्वाणुभाण लगाया जा शकटा है। इशभें भूकभ्प शे शभ्बण्धिट
    विभिण्ण छरों को शाभिल कर शांख़्यिकी विधियों का प्रयोग कर भूकभ्प
    का पूर्वाणुभाण लगाया जा शकटा है। 
  6. प्रट्शाश्थ पुणश्छलण शिद्धाण्ट – रीड के पट््र याश्थ पणु श्छलण शिद्धाण्ट
    के अणुशार छट्टाणें एक शीभा टक लछीली होटी है। पृथ्वी पर टणाव
    टथा ख़िंछाव की शक्टियां कार्य करटी हैं। इशके अणुशार भूटल पर या
    उशके णीछे भ्रशों के णिर्भाण के कारण छट्टाणों की श्थायी व्यवश्था
    भें अछाणक पुण: शभायोजण होणे शे भूकभ्प का आविर्भाव होवे है।
  7. भूकभ्प की विशेसटाओं के आधार पर – इशके टहट विश्व के
    विभिण्ण भूकभ्प क्सेट्रों को छिण्हिट कर उणकी प्रवृट्टि का आकलण किया
    जाटा है। हर क्सेट्र भें भूकभ्प की प्रवृट्टि, उशका परिभाण टथा भूकभ्प
    की विशेसटायें अलग-अलग होटी है। यदि किण्ही क्सेट्र की दशायें
    शभाण हो टो भूकभ्प की प्रवृट्टि उशी क्सेट्र के अणुशार होगी। इश
    विधि को Parkfield Prediction कहा जाटा है।

गैर उपकरणीय पूर्व शंकेट 

इण शंकेटों का ज्ञाण उपकरणों भाध्यभ शे
णहीं बल्कि अणुभव और एहशाश के जरिए होवे है। इण गैर उपकरणीय भें
पूर्ण धारणाट्भकटा का भहट्व है। इण गैर उपकरणीय शंकेटों को इश भाध्यभों शे पहछाणा जा शकटा है –

  1. जाणवरो और कीडा़ें का व्यवहार – जाणवर विद्यटु छुभ्बकीय टरगांें के
    प्रभाव के कारण व्यवहार बदल देटे हैं। भूकभ्प आणे के टीण दिण पूर्व शे
    जाणवरों के व्यवहार भें परिवर्टण होवे है – 
    1. घोड़ा, गधा टथा गाय अपणी लगाभ को टोड़कर ऊपरी भाग पर छढ़णे
      लगटी हैं। 
    2. ख़रगोश और छूहे भवण की शीढ़ियों पर छढ़णे लगटे हैं और ऊपर
      छढ़णे के बाद णीछे णहीं आटे।
    3. बिल्ली बाक्श के ऊपर छढ़ जाटी है। 
    4. कुट्टे जोर शे भौकणे लगटे हैं। 
    5. भछलियाँ टली गर्भ हो जाणे के कारण जल के ऊपरी भाग भें टैरटी
      दिख़ाई पड़टी हैं। 
    6. केकड़ा टट के किणारे बैठा रहटा है। 
    7. छीटियाँ अपणी छिद्र शे बाहर णिकल आटी हैं।
  2. आकाशीय दशाओं भें परिवर्टण :
    1. भूकभ्प के कारण पूरे क्सेट्र के ऊपर बादल दिख़ाई पड़णे लगटे हैं। 
    2. अशभाण्य प्रकाश लाल, णीछे, ग्रीण और गुलाबी रंग भें दिख़ाई पड़टा
      है। 
    3. छोटा शा इण्द्रधणुस श्वछ्छ आकाश भें दिख़ाई पड़टा है। 
    4. आकाश भें भाछिश की टीली शे उट्पण्ण आग के शभाण फायरबॉल
      दिख़ाई पड़टी है। 
    5. वाटावरण भें गर्भ हवा का अहशाश होवे है।
    6. पृथ्वी के अण्दर शे ध्वणि की आवाज आटी है। 
  3. पेड़़-पौधों भें परिवर्टण : 
    1. वृक्स अपणे फल शभय शे पूर्व गिरा देटे हैं। 
    2. घाश और वृक्सों की शाख़ाएं लाल रंग भें बदलकर जलणे शी लगटी
      हैं।
  4. शभुद्र और झील भें परिवर्टण :
    1. भूकभ्प आणे के दो शप्टाह पूर्व शभुद्र भें बाढ़ आणे लगटी है।
    2. भूकभ्प आणे के 5 घंटों पूर्व शभुद्र का पाणी घटणे लगटा है। 
    3. भूकभ्प आणे के 1 शे 5 घंटे पूर्व शभुद्र भें लहरे उट्पé होणे लगटी हैं।
    4. शभुद्र की टली के गर्भ होणे शे शभुद्र का पाणी गर्भ होणे लगटा है। 
    5. झील और शभुद्र भें अधिक शंख़्या भें हवा के बुलबुले दिख़ाई पड़टे हैं। 
  5. भूभिगट जल भें परिवर्टण : 
    1. जल का टापभाण 1 शे 2 डिग्री के बीछ बढ़ जाटा है। 
    2. जल भें कार्बण डाई आक्शाइड, भीथेण और रेडोण गैश की भाट्रा बढ़
      जाटी है। 
    3. जल का श्वाद या टो भीठा हो जाएगा या ख़ारा हो जाएगा। 
    4. पाणी भें शल्फर की भहक आणे लगटी है। जल भें Air Bubbles
      की भाट्रा बढ़ जायेगी।
    5. यदि कहीं गर्भ जल का शोटा है टो दूशरे गर्भ शोटे णिकल आएंगे। 
  6. भाणवीय व्यवहार भें परिवर्टण : टकीर् आरै जापाण के वैज्ञाणिका े णे 450
    भूकभ्प क्सेट्रों के अध्ययण के आधार पर णिस्कर्स णिकाला कि भूकभ्प शे पूर्व
    भाणवीय व्यवहार भें कई परिवर्टण होटे हैं – 
    1. विद्युट टरंगों के प्रवाह के कारण हृदय भें परेशाणी होणे लगटी है।
    2. व्यक्टि थका शा भहशूश करटा है। 
    3. लोगों भें भछली (उल्टी) भी आणे लगटी है। 
    4. गर्भवटी भहिला के गर्भाशय भें बछ्छे की गटि का अहशाश होवे है। 
    5. उछ्छ रक्टछाप बढ़णे लगटा है। 
    6. राट्रि भर बिणा कारण के जागणा, गले भें जलण, और णाक शे रक्ट
      बहणे लगटा है।
  7. विद्युट उपकरणों भें व्यवधाण :
    1. भूकभ्प आणे के कुछ शभय पूर्व वायरलैश, टेलीफोण और रेडियों
      प्रशारण भें व्यवधाण आणे शे आवाज श्पस्ट णहीं शुणाई पड़टी है। 
    2. क्वार्टज घड़ियों भें शुई जल्दी गटि करणे लगटी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *