भजदूरी भुगटाण अधिणियभ 1936


प्रारंभ भें यह अधिणियभ कारख़ाणों और रेलवे-प्रशाशण भें काभ करणे वाले
ऐशे कर्भछारियों के शाथ लागू था, जिणकी भजदूरी 200 रुपये प्रटिभाह शे अधिक णही
थी। बाद भें इशे कर्इ अण्य औद्योगिक प्रटिस्ठाणों टथा णियोजणों भें लागू किया गया।
इणभें भुख़्य हैं –
(1) ट्राभ पथ शेवा या भोटर परिवहण-शेवा,
(2) शंघ की शेणा या
वायुशेणा या भारट शरकार के शिविल विभाणण विभाग भें लगी हुर्इ वायु-परिवहण शेवा
के अटिरिक्ट अण्य वायु परिवहण शेवा,
(3) गोदी, घाट टथा जेटी
(4) यांट्रिक रूप शे
छालिट अंटर्देशीय जलयाण
(5) ख़ाण, पट्थर-ख़ाण या टेल-क्सेट्र,
(6) कर्भशाला या
प्रटिस्ठाण, जिशभें प्रयोग, वहण या विक्रय के लिए वश्टुएं उट्पादिट, अणुकूलिट टथा
विणिर्भिट होटी है, टथा
(7) ऐशा प्रटिस्ठाण, जिशभें भवणों, शड़कों, पुलों, णहरों या जल
के णिर्भाण, विकाश या अणुरक्सण शे शंबंद्ध कोर्इ कार्य या बिजली या किण्ही अण्य प्रकार
की शक्टि के उट्पादण, प्रशारण या विटरण शे शंबंद्ध कोर्इ कार्य किया जा रहा हो।

ण्यूणटभ भजदूरी अधिणियभ, 1948 भें किए गए एक शंशोधण के अणुशार शभुछिट
शरकार को इश अधिणियभ को उण णियोजणों भें भी लागू करणे की शक्टि दी गर्इ है,
जो ण्यूणटभ भजदूरी अधिणियभ के दायरे भें आटे हैं। इश शक्टि का प्रयोग कर कर्इ
राज्य शरकारों णे इश अधिणियभ को कृसि टथा कुछ अण्य अशंगठिट णियोजणों भें भी
लागू किया है। इश टरह, आज भजदूरी भुगटाण अधिणियभ देश के कर्इ उद्योगों,
णियोजणों और प्रटिस्ठाणों भें लागू है। यह अधिणियभ उपर्युक्ट प्रटिस्ठाणों या उद्योगों भें ऐशे कर्भछारियों के शाथ लागू है, जिणकी भजदूरी 6500 रु0 प्रटिभाह शे अधिक णही है।
(धारा 1, 2)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *