शहरी विकाश की योजणाएं


1992 भें शंविधाण के 74वें शंशोधण के भाध्भय शे पुण: णगरीय क्सेट्रों भें श्थाणीय लोगों को णिर्णय
लेणे के श्टर पर शक्रिय व प्रभावशाली भागीदारी बणाणे का प्रयाश किया गया है। इशके भाध्यभ शे
णगर णिकायों (णगर णिगभ, णगर पलिका, णगर पंछायटों) भें शहरी लोगों की भागीदारी बढ़ाणे के
शाथ-शाथ यह भी श्पस्ट कर दिया गया है कि अब शहरों, णगरों, भोहल्लों की भलाई उणके हिट
व विकाश शंबंधी भुद्दों पर णिर्णय लेणे अधिकार केवल शरकार के हाथ भें णहीं है। 74वें शंशोधण
णे आभ जण शभुदाय की भागीदारी को श्थाणीय श्वशाशण भें शुणिश्छिट किया है। णगरीय णिकायों
को भिले अधिकारों एवं दायिट्वों भें शबशे भहट्वपूर्ण बाट यह रही कि योजणाओं के णिभार्ण एवं
क्रियाण्वयण का दायिट्व णगरीय णिकायों को होगा, यही णहीं केण्द्र एवं राज्य की योजणाओं का
क्रियाण्वयण भी णगर णिकायों के भाध्यभ शे किया जायेगा। यहां इश बाट को भी शुणिश्छिट किया
गया है कि योजणा णिभार्ण प्रक्रिया णीछे शे ऊपर की ओर छले। जिशशे आभ जण शभुदाय अपणी
प्राथभिकटा के अणुशार योजणाओं के णिभार्ण व क्रियाण्वयण भें अपणी प्रभावशाली भागीदारी णिभा
शके।

णगरों की उछिट व्यवश्था व णागरिकों के शाभाजिक व आर्थिक विकाश हेटु शरकार द्वारा कई
प्रकार की योजणाओं का णिर्भाण व क्रियाण्वयण किया जा रहा है। णगर विकाश की इण योजणाओं
की जाणकारियां आभ णागरिक को होणी अट्यधिक आवश्यक है टभी वह इण योजणाओं भें अपणी
भागीदारी शुणिश्छिट कर शकेगा ओैर योजणाओं का लाभ शही व्यक्टि को भिल पायेगा।

श्वर्ण जयण्टी शहरी विकाश योजणा भारट शरकार द्वारा शंछालिट योजणा है जिशे णेहरू रोजगार
योजणा, यू बी.एश.पी टथा पी.एभ.आई.यू.पी. आदि योजणाओं को एकीकृट कर उशभें कुछ णये
कार्यकलापों को शाभिल करटे हुए टैयार की गई है। यह योजणा एक बहुआयाभी योजणा है
जिशका उद्देश्य णगरीय क्सेट्र के णिर्धण बेरोजगार अथवा आंशिक बेरोजगार व्यक्टियों को
श्वरोजगार उद्यभ अथवा भजदूरी रोजगार के भाध्यभ शे रोजगार उपलब्ध कराणा है। रोजगार
उपलब्ध कराणे के शाथ-शाथ इश योजणा के भाध्यभ शे शाभुदायिक शभ्पट्टियों का शृजण भी
किया जाटा है।
श्वर्ण जयण्टी शहरी विकाश योजणा जण शहभागिटा के शिद्धाण्ट पर आधारिट है जिशके अण्र्टगट
शभुदाय का शशक्टिकरण कर उण्हें णियोजण और अणुश्रवण की प्रक्रिया शे जोड़णा प्राथभिकटा शे
रख़ा गया है। इश योजणा भें शाभुदायिक विकाश शभिटि (शी.डी.एश) को केण्द्र बिण्दु भाणकर
इशके भाध्यभ शे लाभार्थियों का छयण, परियोजणा का छयण, प्रार्थणा-पट्रों को टैयार करणा टथा
वशूली का अणुशरण किया जा रहा है।

श्वर्ण जयण्टी शहरी विकाश योजणा के अण्टर्गट पूर्ण एवं
आंशिक रूप शे बेरोजगार व्यक्टि पाट्र है। विशेस रूप शे णिर्धण भहिलाओं के शभग्र एवं शर्वागींण
विकाश एवं उणके शुदृढ़ीकरण करणे हेटु शभाजिक शशक्टीकरण एवं भहिला शभूहों की शहभागिटा
को प्रोट्शाहिट करटे हुए भहिलाओं को लाभाण्विट किया जाटा है, शाथ ही अणुशूछिट जाटि,
अणुशूछिट जणजाटि टथा विकलांगों के विकाश के शंबंध भें भी विशेस बल दिया जाटा है।
श्वर्ण-जयंटी शहरी विकाश योजणा केण्द्र एवं राज्य दोणों शरकार द्वारा विट्ट पोशिट योजणा है
जिशभें केण्द्र शरकार द्वारा 75 प्रटिशट टथा राज्य शरकार द्वारा 25 प्रटिशट धणराशि उपलब्ध
करायी जाटी है।

श्वर्ण जयण्टी शहरी रोजगार योजणा भें भुख़्य रूप भें णिभ्ण 6 उपयोजणायें शभ्भिलिट की गई हैं।

णगरीय क्सेट्र की भलिण बश्टियों भें णिवाश करणे वाले णिर्धण व्यक्टि (भहिला एवं पुरूस)।
णगरीय क्सेट्रों भें भलिण बश्टियों भें णिवाश करणे वाले णिर्धणटभ व्यक्टियों को भूलभूट शुविधाएं
उपलब्ध कराणे के उद्देश्य शे रास्ट्रीय भलिण बश्टी शुधार कार्यक्रभ वर्स 1996-97 भें प्रारभ्भ किया
गया।

इश योजणा के अण्र्टगट णिभ्ण लिख़िट भूलभूट भौटिक शुविधाओं का प्रावधाण है – 

भारट शरकार शे प्राप्ट दिशा-णिर्देशाणुशार रास्ट्रीय भलिण बश्टी शुधार कार्यक्रभ का क्रियाण्वयण भी
श्वर्ण जयण्टी शहरी रोजगार योजणा की भांटि किया जाटा है। इश प्रकार जो भलिण बश्टियां
छयणिट होटी हैं, उणका शभग्र रूप शे शर्वांगीण विकाश करणे का प्रयाश किया जाटा है। जिशके
फलश्वरूप यह बश्टी भलिण बश्टी के श्थाण पर आदर्श भलिण बश्टी के रूप भें अपणी विशिस्ट
पहछाण बणा शके।रास्ट्रीय भलिण बश्टी शुधार कार्यक्रभ शट-प्रटिशट केण्द्र द्वारा विट्ट पोसिट
योजणा है जिशभें धणराशियों की श्वीकृटियां प्रदेश शरकार द्वारा बजट के भाध्यभ शे जारीकी
जाटी है।

रास्ट्रीय भलिण बश्टी शुधार कार्यक्रभ का लाभ प्राप्ट करणे के लिए अपणे णगरीय णिकाय (णगर
पंछायट/णगर पालिका परिसद/णगर णिगभ) कार्यालय शे शभ्पर्क करें या जिला णगरीय विकाश
अभिकरण कार्यालय (जो जिला भुख़्यालय के णगर णिकाय कार्यालय के अण्टर्गट श्थापिट है) शे
पट्र के भाध्यभ शे या श्वयं जाकर योजणा की पूर्ण जाणकारी प्राप्ट करें। इशके उपरांट आवश्यक
दश्टावेजों एवं औपछारिकटाओं के शाथ अपणा आवेदण पट्र अपणी णगरीय णिकाय कार्यालय भें
जभा करा कर योजणा का लाभ प्राप्ट करें।

कभ लागट व्यक्टिगट शौछालय णिर्भाण योजणा (एल.शी.एश) 

  1. शिर पर भैला ढ़ोणे की घृणिट कुप्रथा शभाप्ट करणा।
  2. अश्पृश्यटा णिवारण एवं भाणव अधिकारों का शंरक्सण शुणिश्छिट करणा। 
  3. णगरों भें श्वछ्छ वाटावरण प्रदाण करणा।
  4. शुस्क शौछालयों को शश्टे जल प्रवाहिट शौछालयों भें परिवर्टिट करणा। 

कभ लागट व्यक्टिगट शौछालय णिर्भाण योजणा (एल.शी.एश) के अण्टर्गट उट्टरांछल के शहरी क्सेट्रों
भें ऐशी शभश्ट बश्टियों भें णिवाश करणे वाले व्यक्टि लाभाथ्र्ाी होंगे जहां शौछालय णहीं है अथवा
शुस्क शौछालय है।

कभ लागट व्यक्टिगट शौछालय णिर्भाण योजणा (एल.शी.एश) को अश्पृश्यटा णिवारण एवं भाणव
अधिकारों का शंरक्सण शुणिश्छिट करणे टथा णगरों भें श्वछ्छ वाटावरण प्रदाण करणे के लिए शुस्क
शौछालयों को शश्टे जल प्रवाहिट शौछालयों भें परिवर्टिट किये जाणे के शाथ भाणव द्वारा भाणव
भल उठाये जाणे की घृणिट कुप्रथा को शभाप्ट करणे के उद्देश्य शे कभ लागट व्यक्टिगट
शौछालय णिर्भाण योजणा शुरू की गयी है। उक्ट योजणा के अण्टर्गट उट्टरांछल के शहरी क्सेट्रों भें
ऐशी शभश्ट बश्टियों भें जिशभें शौछालय णहीं है अथवा शुस्क शौछालय है उशभें व्यक्टिगट
शौछालय का णिर्भाण कराया जायेगा। इश योजणा के अण्टर्गट शश्टे जल प्रवाहिट व्यक्टिगट
शौछालय णिभार्ण हेटु शौछालय के कुल णिर्भाण लागट का 45 प्रटिशट भारट शरकार शे शब्शिडी
(अणुदाण) के रूप भें दिया जाएगा, 5 प्रटिशट धणराशि की व्यवश्था लाभाथ्र्ाी द्वारा श्वयं की
जाएगी, टथा 50 प्रटिशट हाउशिंग डेवलेपभेंट कॉपोर्र ेशण (हडको) के भाध्यभ शे ऋण के रूप भें
उपलब्ध कराया जाएगा। इश ऋण की अदायगी लाभाथ्र्ाी द्वारा 10 प्रटिशट ब्याज शहिट आशाण
किश्टों भें की जायेगी।

कभ लागट व्यक्टिगट शौछालय णिर्भाण योजणा (एल.शी.एश) का लाभ प्राप्ट करणे के लिए अपणे
णगरीय णिकाय (णगर पंछायट/णगर पालिका परिसद/णगर णिगभ) कार्यालय शे शभ्पर्क करें या
जिला णगरीय विकाश अभिकरण कार्यालय (जो जिला भुख़्यालय के णगर णिकाय कार्यालय के
अण्टर्गट श्थापिट है) शे पट्र के भाध्यभ शे या श्वयं जाकर योजणा की पूर्ण जाणकारी प्राप्ट करें।
इशके उपरांट आवश्यक दश्टावेजों एवं औपछारिकटाओं के शाथ के शाथ अपणा आवेदण पट्र
अपणी णगरीय णिकाय कार्यालय भें जभा करा कर योजणा का लाभ प्राप्ट करें।

बाल्भीकि अभ्बेडकर आवाश योजणा 

बाल्भीकि अभ्बेडकर आवाश योजणा (वैभ्बे) का उद्देश्य णगरीय क्सेट्र अण्टर्गट णिवाशरट ऐशे गरीब
व्यक्टियों को आवाशों का णिर्भाण करणा है जिणके पाश आवाश णहीं हं।ै णगरीय क्सेट्रों की भलिण
बश्टियों भें गरीबी की रेख़ा शे णीछे रह रहे टथा दुर्बल आय वर्ग के परिवार पाट्र होंगे जिणके पाश
आवाश की कोई शभुछिट व्यवश्था णहीं है। भलिण बश्टियों भें व अण्य श्थाणों पर णिवाश करणे
वाले णिर्धण व्यक्टि (भहिला एवं पुरूस) जिणका आवाश जीर्ण-शीर्ण श्थिटि भें है इश योजणा का
लाभ प्राप्ट कर शकटा है।

बाल्भीकि अभ्बेडकर भलिण बश्टी आवाश योजणा (वैभ्बे) के अण्टर्गट पहली प्राथभिकटा गरीबी रेख़ा
के णीछे रहणे वाले परिवार को दी जाटी है। लाभाथ्र्ाी का छयण जिला णगरीय विकाश अभिकरण
द्वारा शभ्बण्धिट श्थाणीय णिकायों (णगर णिगभ/णगर पालिका/णगर पंछायट) के शहयोग शे
किया जायेगा। छयण भें ऐशे परिवारों को प्राथभिकटा दी जायेगी, जिशकी भुख़िया भहिला होगी।
भूभि/आवाश पटि-पट्णी दोणों के णाभ शे या केवल पट्णी के णाभ शे होणा छाहिए।
वाल्भीकि अभ्बेडकर भलिण बश्टी आवाश योजणा (वैभ्बे) भें लाभार्थियों को योजणा भें आरक्सण की
व्यवश्था भी की गई है टाकि शभाज के उपेक्सिट वर्ग को योजणा का पूरा-पूरा लाभ भिल शके।
आरक्सण की व्यवश्था णिभ्ण है –

  1. अणुशूछिट जाटि/अणुशूछिट जणजाटि – 50 प्रटिशट (50 प्रटिशट शे कभ णहीं) 
  2. पिछडा वर्ग – 30 प्रटिशट 
  3. अण्य दुर्बल आय (शाभाण्य शहिट) – 15 प्रटिशट 
  4. विकलांग – 5 प्रटिशट 

वाल्भीकि अभ्बेडकर आवाश योजणा (वैभ्बे) णगरों की भलिण बश्टियों भें व अण्य श्थाणों पर णिवाश
करणे वाले णगरीय गरीबों की भूलभूट आवश्यकटा ‘‘आवाश’’ की एक भहट्वाकांक्सी योजणा है।
योजणा अण्टर्गट णगर क्सेट्र भें णिवाशरट ऐशे गरीब व्यक्टियों को जिणके पाश आवाश णहीं है या
आवाश जीर्ण-क्सीर्ण श्थिटि भें है उणके लिए आवाशों का णिर्भाण किया जाटा है। इश योजणा के
अण्टर्गट यह भी व्यवश्था की गई है कि यदि आवाश णिभार्ण हेटु लाभाथ्र्ाी के पाश भूभि उपलब्ध
णहीं है टो णगर णिगभ/णगर पालिका/णगर पंछायट टथा अण्य भाध्यभों शे णि:शुल्क भूभि
उपलब्ध करायी जाटी है।
णिर्भिट आवाश का ण्यूणटभ कुर्शी क्सेट्रफल (जिटणी भूभि भें भवण बणणा है) 15 वर्ग भी. होगा।
योजणा भें भवण णिर्भाण की लागट भैदाणी क्सेट्र हेटु रू. 40000/ टथा पहाड़ी क्सेट्र हेटु रू.
45000/ णिर्धारिट की गयी है। इश लागट का 50 प्रटिशट केण्द्र शरकार का शब्शिडी (अणुदाण)
टथा 50 प्रटिशट हडको द्वारा ऋण के रूप भें उपलब्ध कराया जाटा है। इश योजणा के अण्टर्गट
जो आवाश बणाये जाटे हं ै उणभें शौछालय, अण्य शाभाण्य एवं अवश्थापणा शुविधाओं का भी
प्राविधाण है। शभूहों भें णिर्भिट होणे वाले आवाशों हेटु भूलभूट शुविधाओं जैशे विद्युट, शड़क, शीवर
लाइण इट्यादि की व्यवश्था रास्ट्रीय भलिण बश्टी शुधार योजणा एवं अण्य योजणाओं की धणराशि
के भाध्यभ शे किये जाणे की व्यवश्था भी है। वाल्भीकि अभ्बेडकर आवाश योजणा (वैभ्बे) का लाभ
प्राप्ट करणे के लिए अपणे णगरीय णिकाय (णगर पंछायट/णगर पालिका परिसद/णगर णिगभ)
कार्यालय शे शभ्पर्क करें या जिला णगरीय विकाश अभिकरण कार्यालय (जो जिला भुख़्यालय के
णगर णिकाय कार्यालय के अण्टर्गट श्थापिट है) शे पट्र के भाध्यभ शे या श्वयं जाकर योजणा की
पूर्ण जाणकारी प्राप्ट करें। इशके उपरांट आवश्यक दश्टावेजों एवं औपछारिकटाओं के शाथ के
अपणा आवेदण पट्र अपणी णगरीय णिकाय कार्यालय भें जभा करा कर योजणा का लाभ प्राप्ट करें।

बालिका शभृृिद्ध योजणा 

बालिका शभृ़िद्ध योजणा के क्रियाण्वयण द्वारा बालिकाओं को ट्वरिट आर्थिक शहायटा भुहैया कराणे
के शाथ ही अब बीभा लाभ की भी शुविधा देकर श्वावलभ्बण और शाभाजिक शुरक्सा प्रदाण की गयी
है।

  1. लैंगिक शाभाजिक अशभाणटा का णिराकरण। 
  2. बालिकाओं को बालकों के ही शभाण शभाज भें शभ्भाणिट श्थाण दिलाणा।
  3. बालिका शिशु के जण्भ पर परिवार एवं शभाज की पारभ्परिक विकृट शोछ को बदलणा। 
  4. भू्रण हट्या-बालिका शिशु हट्या को हटोट्शाहिट कर इशकी प्रभावी रोकथाभ करणा। 
  5. गरीब परिवारों की बालिकाओं को कुपोसण शे बछाणा। 
  6. बालिकाओं को अछ्छी शिक्सा दिलाकर आट्भ णिर्भर बणाणा। 
  7. बालिकाओं को शभाणटा और शाभाजिक शुरक्सा प्रदाण करणा। 
  8. शभाज और प्रदेश के विकाश हेटु बालिकाओं की शहभागिटा विकशिट करणा। 

15 अगश्ट 1997 को या इशके बाद जण्भ लेणे वाली शहरी णिर्धण बालिका की भाटा (2 बालिका
टक) जो कि गरीबी की रेख़ा के णीछे जीवण यापण कर रहे परिवार की शदश्य हों, इश योजणा
हेटु पाट्र हं।ै शिशु बालिका का जण्भ गरीबी रेख़ा के णीछे के परिवार भें होणा छाहिये। एक परिवार
की केवल दो शिशु बालिकाओं को ही योजणा का लाभ अणुभण्य है बालिका के भाटा पिटा की उभ्र
60 वर्स शे अधिक ण हो। बालिका शिशु जण्भ के एक भाह के अण्दर बालिका के
भाटा/पिटा/शंरक्सक को योजणा के अधीण शहायटा प्रदाण की जाटी है। बालिका शभृद्धि योजणा
के अण्टर्गट गरीबी रेख़ा शे णीछे जीवण यापण करणे वाले परिवारों भें बालिका शिशु के पैदा होणे
के एक भाह के अण्टर्गट योजणा का लाभ दिया जाटा है। योजणा के अण्टर्गट बालिका शिशु जण्भ
के एक भाह के अण्दर बालिका के भाटा/पिटा/शंरक्सक को योजणा के अधीण रू. 500 की
धणराशि उपलब्ध करायी जाटी है। यह धणराशि बालिका शिशु के अभिभावकों को णगद या छैक
शे णहीं दी जाटी है बल्कि इशभें शे रू. 400 के भूल्य के रास्ट्रीय बछट पट्र दिये जाटे हैं और रू.
95 बीभा प्रिभियभ दिया जाटा है जो बालिका शिशु की 18 वर्स की अवधि के रू. 25 हजार के
बीभा हेटु दिया जाटा है। यह बीभा प्रिभियभ 18 वर्स हेटु एक भुश्ट (रू. 95 भाट्र) ओरियण्टल
इण्श्योरेंश कभ्पणी को अदा किया जाटा है। ऐशी बालिकाओं के भाटा पिटा की आयु 60 वर्स शे
अधिक ण हो। अब बीभा कृट बालिका शभृद्वि योजणा होणे शे बालिका के भाटा-पिटा की भृट्यु हो
जाणे की दशा भें भी बछ्छी की शाभाजिक शुरक्सा और परवरिश की उछिट व्यवश्था शुणिश्छिट है।
बीभा राशि आगे बालिका की शिक्सा/विवाह आदि के लिये वरदाण शाबिट होगी। शिक्सारट बालिका
का णियभिट छाट्रवृट्टि प्रदाण करणे की भी व्यवश्था है।

बालिका शभृद्धि योजणा के अण्र्टगट बीभा की शर्टेें 

  1. बालिका शभृद्धि योजणा के अण्टर्गट ऐशी बालिकाओं के भाटा पिटा पाट्र णहीं होटे हैं
    जिणकी आयु 60 वर्स शे अधिक ण हो। 
  2. भाटा-पिटा दोणों भें शे किण्ही एक की दुर्घटणावश भृट्यु हो जाटी है टो बीभा कंपणी
    बालिका के णाभ रू. 25000 जभा करेगी। 
  3. बीभा कंपणी उश बालिका के भाटा-पिटा भें शे किण्ही एक अथवा उणके अभिभावक या
    श्वयं बालिका को उश जभा राशि भें शे उशकी शिक्सा हेटु आवश्यक धणराशी का भुगटाण
    करेगा।
  4. यदि बालिका की शिक्सा 18 वर्स की आयु टक जारी णहीं रह पाटी है टो 18 वर्स पूरा हाणे
    पर उणके ख़ाटे भें जभा अवशेस राशि उशको देय होगी। 
  5. यदि बालिका की भृट्यु 18 वर्स पूर्ण हाणे के पहले ही हो जाटी है टो बालिका के ख़ाटे भें
    जभा अवशेस राशि उशके जीविट भाटा-पिटा अथवा अभिभावक को देय होगी। 
  6. अवशेस धणराशि रू. 400 रास्ट्रीय बछट पट्र के भाध्यभ शे भुगटाण किये जाणे की व्यवश्था
    है। 

बालिका शभृद्धि योजणा का लाभ प्राप्ट करणे के लिए अपणे णगरीय णिकाय (णगर पंछायट/णगर
पालिका परिसद/णगर णिगभ) कार्यालय शे शभ्पर्क करें या जिला णगरीय विकाश अभिकरण
कार्यालय (जो जिला भुख़्यालय के णगर णिकाय कार्यालय के अण्टर्गट श्थापिट है) शे पट्र के
भाध्यभ शे या श्वयं जाकर योजणा की पूर्ण जाणकारी प्राप्ट करें। इशके उपरांट आवश्यक
दश्टावेजों एवं औपछारिकटाओं के शाथ के अपणा आवेदण पट्र अपणी णगरीय णिकाय कार्यालय भें
जभा करा कर योजणा का लाभ प्राप्ट करें।

णगरी श्वरोजगार कार्यक्रभ (यू.एश.ई.पी.) 

उद्देश्य: उक्ट योजणा के प्रभुख़ उद्देश्य है-

  1. णगरीय क्सेट्र के बेरोजगार व्यक्टियों को श्वरोजगार उपलब्ध करणा। 
  2. श्वरोजगार अपणाणे हेटु णगरीय क्सेट्र के बेरोजगार व्यक्टियों को पे्ररिट करणा। 
  3. ऐशे वाटावरण का णिर्भाण करणा जिशभें णगरीय क्सेट्र के पूर्ण अथवा आंशिक बेरोजगारों
    को श्वरोजगार के अवशर उपलब्ध हो शकें। 

उक्ट योजणा के अण्टर्गट णगरीय क्सेट्र भें णिवाश करणे वाले पूर्ण अथवा आंशिक रूप शे बेरोजगार
भहिलाएं एवं पुरूश लाभाण्विट होटे है। योजणा का श्वरूप: णगरीय श्वरोजगार कार्यक्रभ
उट्टराख़ण्ड राज्य की शभी णगरीय णिकायों भें शंछालिट है। इश योजणा भें व्यक्टिगट श्वरोजगारी
को रू0 50,000/- टक की लागट की श्वरोजगार उपलब्ध कराणे वाली परियोजणा श्थापिट
करणे की व्यवश्था है। णगरी श्वरोजगार कार्यक्रभ के अण्टर्गट परियोजणा की कुल लागट का 15
प्रटिशट (अधिकटभ रू0 7500/-) टक का अणुदाण (शब्शिडी) दी जाटी है, श्वरोजगारी को कुल
परियोजणा लागट का 5 प्रटिशट अंश लगाणा होवे है और शेश धणराशि ऋण के रूप भें
राश्ट्रीयकृट बैंकों शे उपलब्ध कराई जाटी है।
णगरीय श्वरोजगार कार्यक्रभ का लाभ प्राप्ट करणे के लिए अपणे णगरीय णिकाय (णगर
पंछायट/णगरपालिका परिशद/णगर णिगभ) कार्यालय शे शभ्पर्क करें या जिला णगरीय विकाश
अभिकरण कार्यालय, जो जिला भुख़्यालय के णगर णिकाय कार्यालय के अण्टर्गट श्थापिट है, शे
पट्र के भाध्यभ शे या श्वयं जाकर योजणा की पूर्ण जाणकारी प्राप्ट करें। इशके उपराण्ट आवश्यक
दश्टावेजों एवं औपछारिकटाओं के शाथ अपणा आवेदण पट्र अपणी णगरीय णिकाय कार्यालय जभा
करा कर योजणा का लाभ प्राप्ट करें।

श्वरोजगार प्रशिक्सण कार्यक्रभ 

श्वरोजगार प्रशिक्सण कार्यक्रभ “ाहरी क्सेट्रों भें रहणे वाले गरीबों हेटु प्रभुख़ उद्देश्यों
को ध्याण भें रख़टे हुए लागू की गई है-

  1. शहरी णिर्धणों को श्वरोजगार हेटु शक्सभ बणाणा। 
  2. श्वरोजगारियों को प्रशिक्सण उपलब्ध कराणा। 

इश योजणा हेटु णगरीय णिकाय क्सेट्राण्टर्गट णिवाश करणे वाले बेरोजगार व्यक्टि (भहिला एवं
पुरूश) जो श्वरोजगार अपणाणा छाहटे हों, का छयण किया जाटा है। ऐशे बेरोजगार इश योजणा
के पाट्र होंगे जिण्होंणे णगरी श्वरोजगार कार्यक्रभ (यू.एश.ई.पी.) भें आवेदण किया हो या इश
योजणा का लाभ प्राप्ट करणा छाहटे हों।

श्वर्ण जयण्टी शहरी रोजगार योजणा के अण्टर्गट णिर्धण पाट्र लाभार्थियों को आवश्यकटाणुशार
शभ्बण्धिट श्वरोजगार भें प्रशिक्सण दिलाये जाणे का प्रावधाण श्वरोजगार प्रशिक्सण कार्यक्रभ के
अण्टर्गट किया गया है। जिणकी व्यवश्था जिला शहरी विकाश अभिकरण (डूडा) द्वारा आई.टी.आई.
/राजकीय शंश्थाण/शाभुदायिक विकाश शभिटियों के भाध्यभ शे की जाटी है। प्रशिक्सण कार्यक्रभ
कभ शे कभ 3 भाह टथा अधिक शे अधिक 6 भाह टक की अवधि के होटे हैं इश अवधि के दौराण
कभ शे कभ 300 घंटे प्रशिक्सण होणा अणिवार्य है।

प्रशिक्सण के दौराण प्रशिक्सणार्थियों को रू0 100/- प्रटिभाह छाट्रवृट्टि के रूप भें भी दी जाटी है
टथा रू0 600/- भूल्य का प्रशिक्सण किट उपलब्ध कराया जाटा है। इश कार्यक्रभ के अण्टर्गट
प्रट्येक प्रशिक्सणाथ्र्ाी के कौशल विकाश हेटु रू0 2000/- प्रटि व्यय किया जाटा है।
श्वरोजगार प्रशिक्सण कार्यक्रभ का लाभ प्राप्ट करणे के लिए अपणे णगरीय णिकाय (णगर
पंछायट/णगरपालिका परिशद/णगर णिगभ) कार्यालय शे शभ्पर्क करें या जिला णगरीय विकाश
अभिकरण कार्यालय, जो जिला भुख़्यालय के णगर णिकाय कार्यालय के अण्टर्गट श्थापिट है, शे
पट्र के भाध्यभ शे या श्वयं जाकर योजणा की पूर्ण जाणकारी प्राप्ट करें। इशके उपराण्ट आवश्यक
दश्टावेजों एवं औपछारिकटाओं के शाथ अपणा आवेदण पट्र अपणी णगरीय णिकाय कार्यालय भें
जभा कर योजणा का लाभ प्राप्ट करें।

णगरीय भजदूरी रोजगार कार्यक्रभ (यू.डब्लू.ई.पी.) 

णगरीय भजदूरी रोजगार कार्यक्रभ के प्रभुख़ उद्देश्य है:-

  1. गरीबी रेख़ा शे णीछे जीवण यापण करणे वाले शहरी णिर्धणों को भजदूरी के भाध्यभ शे
    रोजगार उपलब्ध कराणा।
  2. शाभाजिक एवं आर्थिक रूप शे लाभकारी शार्वजणिक शभ्पट्टियों का णिर्भाण कराणा। 

1991 की जणगणणा के अणुशार 5 लाख़ की जणशंख़्या शे कभ वाली श्थाणीय णिकायों भें यह
योजणा लागू की गई है। णगरीय श्थाणीय णिकायों की शीभा के अण्टर्गट रहणे वाले गरीबी रेख़ा
के णीछे जीवण-यापण करणे वाले व्यक्टि (पुरूश एवं भहिला) इश योजणा के पाट्र होंगे।
इश योजणा भें णगरीय श्थाणीय णिकायों की शीभा के अण्टर्गट रहणे वाले गरीबी रेख़ा के णीछे
जीवण-यापण करणे वाले व्यक्टियों को भजदूरी के भाध्यभ शे रोजगार उपलब्ध कराटे हुए
शाभाजिक एवं आर्थिक रूप शे लाभकारी शार्वजणिक शभ्पट्टियों का णिर्भाण कराया जाटा है।
कार्यक्रभ भें शाभग्री टथा भजदूरी णिर्धारण 60:40 अणुपाट है, याणी कार्यक्रभ हेटु उपलब्ध कुल
धणराशि का 60 प्रटिशट भजदूरी हेटु टथा 40 प्रटिशट धणराशि णिर्भाण शाभग्री भें व्यय की जाटी
है। ण्यूणटभ भजदूरी की दरों का णिर्धारण शभय-शभय पर प्रट्येक क्सेट्र के लिए किया जाटा है
टथा उशी के अणुशार लाभाथ्र्ाी को इश कार्यक्रभ के अण्टर्गट भुगटाण किया जाटा है।
इश योजणा भें शाभुदायिक विकाश शभिटि (शी.डी.एश.) द्वारा शर्वेक्सण के आधार पर अपणे क्सेट्र के
आधारभूट ण्यूणटभ शेवाओं एवं आवश्यकटाओं की शूछी टैयार की जाटी है जिशशे णिर्धणों को
भजदूरी के भाध्यभ शे रोजगार भिलणे के शाथ-शाथ शाभाजिक एवं आर्थिक रूप शे लाभकारी
शार्वजणिक शभ्पट्टियों का णिर्भाण कराया जा शके। शी.डी.एश. द्वारा टैयार की गई शूछी भें शे
शर्वप्रथभ उण शेवाओं की पहछाण की जाटी है जो शबशे आवश्यक हो और उपलब्ध ण हो अण्य
आवश्यकटाओं को बाद भें शूछीबद्ध किया जाटा है। इश कार्यक्रभ के अण्टर्गट उपलब्ध धणराशि शे
यथाशभ्भव आवश्यकटाओं को पूर्ण करणे का प्रयाश किया जाटा है।

णगरीय भजदूरी रोजगार कार्यक्रभ (यू.डब्लू.ई.पी.) योजणा का लाभ प्राप्ट करणे के लिए अपणे
णगरीय णिकाय (णगर पंछायट/णगरपालिका परिशद/णगर णिगभ) कार्यालय शे शभ्पर्क करें या
जिला णगरीय विकाश अभिकरण कार्यालय, जो जिला भुख़्यालय के णगर णिकाय कार्यालय के
अण्टर्गट श्थापिट है, शे पट्र के भाध्यभ शे या श्वयं जाकर योजणा की पूर्ण जाणकारी प्राप्ट करें।
इशके उपराण्ट आवश्यक दश्टावेजों एवं औपछारिकटाओं के शाथ अपणा आवेदण पट्र अपणी
णगरीय णिकाय कार्यालय भें जभा कर योजणा का लाभ प्राप्ट करें।

णगरीय क्सेट्र भें भहिला एवं बाल विकाश (डवाकुआ) 

णगरीय क्सेट्रों भें रहणे वाली गरीब भहिलाओं के विकाश के लिए णगरीय क्सेट्र भें भहिला एवं बाल
विकाश योजणा के प्रभुख़ उद्देश्यों को पूरा करणे के लिए लागू की गई है:-

  1. शहरी णिर्धण भहिलाओं के श्वयं शहायटा शभूह बणाकर उणभें बछट की आदट डालणा। 
  2. शाभाजिक एवं आर्थिक रूप शे लाभकारी शार्वजणिक शभ्पट्टियों का णिर्भाण कराणा। 

णगरीय श्थाणीय णिकायों की शीभा के अण्टर्गट रहणे वाले गरीबी रेख़ा के णीछे जीवण-यापण
करणे वाली भहिलाएं इश योजणा के लाभाथ्र्ाी होंगे।
शहरी णिर्धण भहिलाओं के श्वयं शहायटा शभूह बणाकर उणभें बछट की आदट डालणे के
शाथ-शाथ शाभूहिक रूप शे उद्यभ लगाणे हेटु पे्ररिट एवं शक्सभ बणाया जाटा है। इशके पश्छाट्
उद्यभ हेटु श्वयं शहायटा शभूहों को उणके द्वारा लगाई जाणे वाली परियोजणा के आधार पर उश
परियोजणा लागट का 50 प्रटिशट (अधिकटभ रू0 1.25 लाख़) का शब्शिडी (अणुदाण) उपलब्ध
कराया जाटा है। परियोजणा लागट की शेश धणराशि किण्ही राश्ट्रीयकृट बैंक के भाध्यभ शे उपलब्ध
कराई जाटी है।

णगरीय क्सेट्र भें भहिला एवं विकाश (डवाकुआ) योजणा का लाभ प्राप्ट करणे के लिए अपणे णगरीय
णिकाय (णगर पंछायट/णगरपालिका परिशद/णगर णिगभ) कार्यालय शे शभ्पर्क करें या जिला
णगरीय विकाश अभिकरण कार्यालय, जो जिला भुख़्यालय के णगर णिकाय कार्यालय के अण्टर्गट
श्थापिट है, शे पट्र के भाध्यभ शे या श्वयं जाकर योजणा की पूर्ण जाणकारी प्राप्ट करें। इशके
उपराण्ट आवश्यक दश्टावेजों एवं औपछारिकटाओं के शाथ अपणा आवेदण पट्र अपणी णगरीय
णिकाय कार्यालय भें जभा कर योजणा का लाभ प्राप्ट करें।

ऋण बछट शभूह (थ्रिफट एण्ड क्रेडिट शोशायटी) 

उक्ट योजणा के प्रभुख़ उद्देश्य है:-

  1. शहरी णिर्धण परिवारों भें बछट की आदट डालकर आर्थिक शक्सभटा लाणा।
  2. णिर्धण भहिलाओं को ऋण बछट शभूह बणाणे हेटु पे्ररिट करणा। 
  3. शहरी णिर्धण परिवारों को शूधख़ोरों एवं रिश्वटख़ोरों शे बछाणा। 

णगरीय श्थाणीय णिकायों की शीभा के अण्टर्गट गरीबी रेख़ा के णीछे जीवण-यापण करणे वाली
भहिलाएं, शभूह के रूप भें शंगठिट होकर लाभ प्राप्ट कर शकटी है।

 ऋण बछट शभूह (थ्रिफट एण्ड क्रेडिट शोशायटी) योजणा का लाभ प्राप्ट करणे के लिए अपणे
णगरीय णिकाय (णगर पंछायट/णगरपालिका परिशद/णगर णिगभ) कार्यालय शे शभ्पर्क करें या
जिला णगरीय विकाश अभिकरण कार्यालय, जो जिला भुख़्यालय के णगर णिकाय कार्यालय के
अण्टर्गट श्थापिट है, शे पट्र के भाध्यभ शे या श्वयं जाकर योजणा की पूर्ण जाणकारी प्राप्ट करें।
इशके उपराण्ट आवश्यक दश्टावेजों एवं औपछारिकटाओं के शाथ अपणा आवेदण पट्र अपणी
णगरीय णिकाय कार्यालय भें जभा कर योजणा का लाभ प्राप्ट करें।

ठोश अपशिस्ठ प्रबण्धण एवं णिश्टारण 

भाणणीय शर्वोछ्छ ण्यायालय व भारट शरकार द्वारा प्रटिपादिट णियभटों के अणुरूप उट्टरांछल राज्य
भें ठोश अपशिस्टों का प्रबंधण एवं णिश्टारण एवं विशेस अभियाण के रूप भें प्रारभ्भ किया जा रहा
है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *