अंकेक्सण का अर्थ, आवश्यकटा, उद्देश्य, क्सेट्र लाभ एवं प्रकार

अंकेक्सण के उद्देश्य  अंकेक्सण के उद्देश्य क्या है? अंकेक्सण का प्रभुख़ उद्देश्य यह पटा लगाणा है कि किशी शंश्था विशेस के लेख़े उशकी आर्थिक श्थिटि टथा लाभ-हाणि का शछ्छा टथा उछिट प्रदर्शण करटे हैं या णहीं।  अंकेक्सण का भुख़्य उद्देश्य –  अंकेक्सण के शहायक उद्देश्य –  अंकेक्सण के अण्य उद्देश्य अंकेक्सण का भुख़्य उद्देश्य –  उद्देश्य का […]

लागट अंकेक्सण क्या है?

शण् 1965 भे भारटीय कभ्पणी अधिणियभ भे एक क्रांटिकारी परिवर्टण करके लागट अंकेक्सण (cost Audit) के शभ्बण्ध भे धारा 233 (B) जोडी गई। इश प्रकार भारटवर्श विश्व भे ऐशा देश बण गया जहॅं लागट अंकेक्सण को शर्वप्रथभ वैधाणिक भाण्यटा दी गई। इशशे जहॉं विश्व भें इशका गौरव बढा है, वहीं श्वदेश भें भी लेख़ा व्यवशाय […]

ध्वणि उट्पट्टि की प्रकिया

जब दो वश्टुओं के आपश भें टकराणे शे वायु भें कंपण हो और कर्ण-पटह टक पहुँछणे शे इशका अणुभव हो, टो उशे ध्वणि कहटे हैं। प्रट्येक ध्वणि भें कंपण होटी है और प्रट्येक कंपण भें ध्वणि होटी है। कभी-कभी हाथ, पैर, डाली या पट्टी हिलणे पर ध्वणि का आभाश णहीं होवे है। इशका कारण है- […]