Category Archives: अन्तर्राष्ट्रीयता

अंतर्राष्‍ट्रीयता की अवधारणा एवं विशेषताएं

जब दो या दो से अधिक व्यक्ति क्षेत्र, जाति, लिंग, धर्म, संस्कृति, व्यवसाय अथवा अन्य किसी आधार पर ‘हम’ की भावना से बंधे रहेते हैं तो इसे भावात्मक एकता कहते हैं। मनुष्य आरम्भ से केवल अपने बारे में सोचता था धीरे-धीरे उसने दूसरों के विषय में सोचना प्रारम्भ किया जब समाज का निर्माण हुआ फिर… Read More »