Category Archives: अरस्तू

अरस्तू का राज्य की उत्पत्ति व प्रकृति का सिद्धांत

अपने ग्रन्थ ‘पोलिटिक्स’ (Politics) में अरस्तू ने राज्य की उत्पत्ति, स्वरूप तथा लक्ष्य के सम्बन्ध में विस्तृत चर्चा करते हुए कहा है कि ‘मनुष्य एक सामाजिक तथा राजनीतिक प्राणी है’ (Man is a Social and Political Animal)। अरस्तू के अनुसार मनुष्य का अस्तित्व और विकास राज्य में ही सम्भव है। तत्कालीन यूनान के सोफिस्टों का… Read More »