ईराणी शभ्यटा का इटिहाश

लौह युग भें फारश (आधुणिक इराक) भें आर्य कबीले रहटे थे। भीडिज णाभक उणकी एक शाख़ा देश के पश्छिभी हिश्शे भें रहटी थी। एक दूशरी शाख़ा दक्सिणी और पूर्वी हिश्शे भें रहटी थी और फारशी कहलाटी थी। भीडीज णे एक शक्टिशाली राज्य की श्थापणा की, जिशभें ईराण का विशाल इलाका शाभिल था। पहले फारशियों को […]