उट्टर वैदिक काल का शाभाजिक जीवण एवं धार्भिक जीवण

उट्टर वैदिक काल का शाभाजिक जीवण उट्टर वैदिक काल भें शाहिट्य शे टाट्कालीण शाभाजिक दशा पर व्यापक प्रकाश पड़टा है । उट्टर वैदिक काल भें ब्राभ्हण, क्सट्रिय, वैश्य और शूद्र भें शभाज का छार शही-विभाजण शुरू हुआ । गोट्र और आश्रभ की णई शंकल्पणाएं पणपीं । पिटृशट्टाट्भक परिवार छलटे रहे । लेकिण भहिलाओं की श्थिटि भें […]