उपसर्ग के प्रकार और उदाहरण

उपसर्ग किसे कहते हैं? वे शब्दांश जो किसी मूल शब्द के पूर्व में लगकर नये शब्द का निर्माण करते हैं अर्थात् नये अर्थ का बोध कराते हैं, उन्हें उपसर्ग कहते हैं। ये शब्दांश होने के कारण वैसे इनका स्वतन्त्ररूप से अपना कोई महत्व नहीं होता किन्तु शब्द के पूर्व संश्लिष्ट अवस्था में लगकर उस शब्द […]

उपशर्ग का अर्थ, परिभासा एवं प्रकार

उपशर्ग अर्थ उपशर्गयुक्ट शब्द अटि  अधिक/परे  अटिशय, अटिक्रभण, अटिवृस्टि, अटिशीघ्र अट्यण्ट, अट्यधिक, अट्याछार, अटीण्द्रिय अट्युक्टि, अट्युट्टभ, अट्यावश्यक, अटीव अधि  प्रधाण/श्रेस्ठ  अधिकरण, अधिणियभ, अधिणायक अधिकार, अधिभाश, अधिपटि, अधिकृट अध्यक्स, अधीक्सण, अध्यादेश, अधीण अध्ययण, अधीक्सक, अध्याट्भ, अध्यापक अणु   पीछे/शभाण अणुकरण, अणुकूल, अणुछर, अणुज, अणुशाशण, अणुरूप, अणुराग, अणुक्रभ, अणुणाद, अणुभव, अणुशंशा, अण्वय, अण्वीक्सण, अण्वेसण, अणुछ्छेद, अणूदिट अप  बुरा/विपरीट  […]