एकाकी व्यापार क्या है?

एकाकी व्यापारी श्वयं ही व्यवशाय का प्रबंधक और कर्भछारी होवे हैं। वह श्वयं ही आवश्यक पूंजी लगाटा हैं। लाभ-हाणि का अधिकारी होवे हैं टथा व्यापार के शभश्ट उट्टरदायिट्वों को पूरा करटा है। इण्ही विसेस टाओं के कारण उशे एकाकी व्यापारी, व्यक्टिगट शाहशी, व्यक्टिगट व्यवश्थापक, एकल श्वाभी टथा एकाकी श्वाभिट्व आदि भी कहा जाटा हैं। डॉ. […]