Category Archives: एनजीओ (NGO)

गैर सरकारी संगठन क्या है?

गैर सरकारी संगठन (NGO) के अन्तर्गत ऐसे समूह व संस्थान आते हैं जो पूर्ण रुप से या अधिकांश रुप से गैर-सरकारी होते हैं। इनका उद्देश्य व्यावसायिक न होकर मुख्यतः मानव मात्र के कल्याण और सहकारी तौर पर काम करना होता है। औद्योगिक देशों में ये प्राइवेट एजेंसियां होती हैं ये (एजेसियां) संगठन अंतर्राष्ट्रीय विकास के… Read More »

गैर सरकारी संगठन के प्रबंधन के मुद्दे

प्रबंधन के मुद्दे की अवधारणा  सेवा प्रदान करना ही किसी गैर सरकारी संगठन के अभिनय को उजागर करती है, वो संवाएँ किस प्रकार की है और कितनी कारगर है? और किसी वक्त किसके लिए की जा रही है? ये सभी एक अच्छे गैर सरकारी संगठन से मुद्दे है। ज्यादातर गरीबों तथा विभिन्न प्रकार के समुदायों… Read More »

गैर सरकारी संगठन की समस्याएँ तथा निराकरण

गैर सरकारी संगठन कई तरीकों से समाज में समाज के उत्थान के लिए कार्य करती हैं। कमी में संस्थाएँ और संगठन अपने स्तर पर और कमी बड़ी संस्थाओं की मदर से कार्य करती है। कई बार ये संगठन सांस्कृतिक कार्यक्रमों जैसे नुक्कड़ नाटक की मदद लेते हैं और कई बार अन्य तरीकों से अपने उद्देश्य… Read More »

एनजीओ (NGO) हेतु रणनीति एवं नियोजन

रणनीति सैन्य शब्दावली है । इसका प्रयोग रणक्षेत्र में सैन्य आक्रमण के लिए सैनिकों एवं सैन्यदल का बेहतर उपयोग उनकी स्थिति निर्धारित करने में किया जाता है जिससे युद्ध में विजय प्राप्त की जा सके । इसी तरह एन0 जी0 आ0 के लिए भी यह आवश्यक है कि वह संसाधनों एवं लोगोंं का बेहतर उपयोग,… Read More »

एनजीओ (NGO) स्थापना की विधिक प्रक्रियाएं

इस में आपको ट्रस्ट (न्यास) स्थापना की प्रक्रिया से अवगत कराया जायेगा ताकि आप स्वैच्छिक संगठनों की पंजीकरण प्रक्रिया से अवगत हो सके तथा न्यास की स्थापना प्रक्रिया ,अनिवार्य तत्व ,विभिन्न अधिनियमों के तहत मिलने वाली कर छूट एवं स्वैच्छिक संगठन का पंजीकरण एवं पंजीकरण प्रक्रिया से अवगत हो सके। गैर सरकारी संगठन का पंजीकरण… Read More »

एनजीओ (NGO) हेतु कार्यालयी प्रक्रियाएं एवं प्रलेखन

इस में आपको न्यास हेतु महत्वपूर्ण प्रलेख, विलेख के तत्व ,सोसायटी की स्थापना हेतु आवश्यक प्रलेख ,संघ के लिए ज्ञापन पत्र (मेमोरण्डम ऑफ एसोसिएशन) ,सोसायटी (संस्था) के उपनियम ,कम्पनी अधिनियम के तहत संस्था का पंजीकरण आदि की जानकारी दी गयी है ताकि आपको यह बताया जा सके कि एक न्यास की स्थापना हेतु किन जानकरियों… Read More »

एनजीओ (NGO) में खाते बनाना और वित्तीय विवरण तैयार करना

एक ट्रस्ट/एसोसिएशन को अपने वित्तीय लेन-देन का रिकार्ड रखने के लिए खातों की उचित और नियमित पुस्तकें रखनी चाहिए। खाते डबल एंट्री सिस्टम से तैयार करने चाहिएं और नियमित रूप से एक ही लेखाकरण विधि को अपनाया जाना चाहिए, चाहे वह cash method हो या mercantile method। कानूनी आवश्यकताएं : सोसाइटीज रजिस्ट्रेशन एक्ट के अतर्गत… Read More »

एनजीओ (NGO) और जनहित याचिका

निर्धन, अल्प सुविधा प्राप्त, शोषित और उत्पीड़ित आमतौर पर कानून का सहारा लेकर क्षतिपूर्ति नहीं कराते, क्योंकि वे नहीं जानते कि उनके साथ जो गलत व्यवहार किया जा रहा है, वह कानूनी तौर पर गलत है और इसके पास महंगी अदालती कार्रवाई के लिए प्रर्याप्त धन की व्यवस्था नहीं होती।फिर भी, आम जनता में साक्षरता… Read More »

एनजीओ (NGO) और सूचना का अधिकार

सूचना का अधिकार अधिनियम, 2005 जम्मू और कश्मीर राज्य के अतिरिक्त पूरे भारत में लागू होता है। सभी लोक प्राधिकरण, चाहे वे केन्द्र सरकार के अधिकार-क्षेत्र में हों अथवा किसी राज्य सरकार के, इस अधिनियम के तहत आते हैं। यह अधिनियम प्रत्येक भारतीय नागरिक को किसी भी लोक प्राधिकरण से निर्दिश्ट तरीके से सूचना मांगने… Read More »

एन0 जी0 ओ0 में परियोजना प्रबन्धन

किसी एन0 जी0 ओ0 में परियोजना प्रबन्धन का खास महत्व होता है क्योंकि यही वह माध्यम होता है जिसके द्वारा किसी परियोजना को कार्यान्वित किया जाता है।सरकार अथवा अन्य साधनों से प्राप्त अनुदान द्वारा जनता के हित में ये गैर सरकारी संगठन कार्य करते है और इसका समस्त ब्यौरा सम्बन्धित अनुदानित संस्था को अनुदान देने… Read More »