Category Archives: कर्मचारी भविष्य-निधि एवं प्रकीर्ण प्रावधान

कर्मचारी भविष्य-निधि एवं प्रकीर्ण प्रावधान अधिनियम, 1952

अधिनियम का नाम, विस्तार, उद्देश्य तथा लागू होना  औद्योगिक विकास के साथ ही कुछ नियोजकों ने अपने कर्मकारों के कल्याण के लिए भविष्य निधि स्कीम लागू किये। लेकिन ऐसी योजनाएं शुद्ध रूप से प्राइवेट और ऐच्छिक थीं। छोटे उद्योगों में कार्यरत मजदूर इस लाभ से वंचित थे। इससे असन्तोष और ईश्र्या होना स्वाभाविक था। ऐसी… Read More »