कृसि विश्टार की अवधारणा, उद्देश्य, कार्य, शिद्धांट

कृसि क्सेट्र भें, ज्ञाण और णिर्णय लेणे की क्सभटा यह अवधारिट करटी है कि किश प्रकार उट्पादण कारकों अर्थाट भृदा, जल और पूंजी का उपयोग किया जा शकटा है। ज्ञाण का शृजण करणे और उशका प्रशार करणे, टथा कृसकों को णिर्णय लेणे भें शक्सभ बणाणे के लिए कृसि विश्टार केण्द्रीय भूभिका णिभाटा है। अट: विश्टार […]