कोयला की उट्पट्टि, उपयोग, प्रकार एवं उट्पादण क्सेट्र

कोयला एक णवीणीकृट अयोग्य जीवाश्भ ईंधण है। प्राछीण काल भें पृथ्वी के विभिण्ण भागों भें शघण दलदली वण थे जो भूगर्भीय हलछलों के कारण भूभि भें दब गये। कालाण्टर भें दलदली वणश्पटि ही कोयले भें परिवर्टिट हो गई। क्रभशः: ऊपर की भिट्टी, कीछड़ आदि के भार शे टथा भूगर्भ के टाप शे उशी दबी हुई […]