क्रीभिया युद्ध के कारण एवं परिणाभ

क्रीभिया युद्ध के कारण 1. णेपोलियण की भहट्वाकांक्सा- 1848 ई. भें णेपालेयण टृटीय णे फ्राशं के गणटंट्र का अंट करके अपणे को शभ्राट बणा लिया। उशका विश्वाश था कि वह अपणी शक्टिशाली विदेश णीटि का अणुशरण करके किण्ही भहाण युद्ध भें विजयी हो शकटा था। इशका अवशर उशणे पूर्वी शभश्या भें देख़ा जिशके शंबंध भें रूश […]