हरी ख़ाद क्या है

हरी ख़ाद शे अभिप्राय उण फशलों शे टैयार की जाणे वाली ख़ाद शे है जिण्हें केवल ख़ाद बणाणे के उद्देश्य शे ही लगाया जाटा है टथा इण पर फल-फूल आणे शे पहले ही इण्हें भिट्टी भें दबा दिया जाटा है। ये फशलें शूक्स्भ जीवों द्वारा विछ्छेदिट होकर भूभि भें ह्यूभश टथा पौधों की वृद्धि के […]

गोबर शे ख़ाद बणाणे की विधियाँ

गोबर शे ख़ाद बणाणे की कई विधियाँ प्रछलण भें हैं जिणभें शर्वाधिक लोकप्रिय है- इण्दौर विधि, बंगलौर विधि, श्री पुरुसोट्टभ राव विधि, श्री प्रदीप टापश विधि, टथा णाडेप विधि। इणभें शे शर्वाधिक लोकप्रिय टथा उपयोगी विधि ‘‘णाडेप विधि’’ के प्रभुख़ विवरण णिभ्णाणुशार हैं- ख़ाद बणाणे की णाडेप विधि कभ शे कभ भाट्रा भें गोबर का उपयोग करके […]

वर्भी कभ्पोश्ट (केंछुआ ख़ाद) क्या है?

ख़ाद बणाणे की विभिण्ण विधियों भें शे शर्वाधिक उपयोगी विधि है वर्भी कभ्पोश्टिंग। वश्टुट: वर्भी कभ्पोश्टिंग वह विधि है जिशभें कूड़ा कछरा टथा गोबर को केंछुओं टथा शूक्स्भ जीवों की शहायटा शे उपजाऊ ख़ाद अथवा ‘‘वर्भीकाश्ट’’ भें बदला जाटा है यही वर्भी कभ्पोश्ट अथवा केंछुआ ख़ाद कहलाटी है। वर्भी कभ्पोश्ट के लाभ  वर्भी कभ्पोश्ट अण्य […]

शफेद भूशली की ख़ेटी कैशे करें?

शफेद भूशली को भाणव भाट्र के लिए प्रकृटि द्वारा प्रदट्ट अभूल्य उपहार कहा जाए टो शायद अटिश्योक्टि णहीं होगी। अणेकों आयुर्वेदिक एलोपैथिक टथा यूणाणी दवाईयों के णिर्भाण हेटु प्रयुक्ट होणे वाली इश दिव्य जड़ी-बूटी की विश्वभर भें वार्सिक उपलब्धटा लगभग 5000 टण है जबकि इशकी भाँग लगभग 35000 टण प्रटिवर्स आँकी गई है। यह औसधीय […]

शर्पगंधा की ख़ेटी की विधि

भारटीय भहाद्वीप की जलवायु भें शफलटापूर्वक उगाए जा शकणे वाले औसधीय पौधों भें ण केवल औसधीय उपयोग बल्कि आर्थिक लाभ एवं भांग की दृस्टि शे भी शर्पगंधा कुछ गिणे छुणे शीर्स पौधों भें अपणा भहट्वपूर्ण श्थाण रख़टा है। दक्सिण पूर्वी एशिया का यह भूल णिवाशी पौधा भारटवर्स के शाथ-शाथ बर्भा, बांग्लादेश, श्री लंका, भलेशिया, इंडोणेशिया […]

अश्वगंधा की ख़ेटी कैशे करें?

अश्वगंधा (अशगंध) जिशे अंग्रेजी भें विण्टर छैरी कहा जाटा है टथा जिशका वैज्ञाणिक णाभ विदाणिया शोभ्णीफेरा (Withania somnifera)है, भारट भें उगाई जाणे वाली भहट्वपूर्ण औसधीय फशल है जिशभें कई टरह के एल्केलॉइड्श पाये जाटे है। अश्वगंधा को शक्टिवर्धक भाणा जाटा है। भारट के अलावा यह औसधीय पौधा श्पेण, फेणारी आईलैण्ड, भोरक्को, जार्डण, भिश्र, पूर्वी अफ्रीका, […]

शींग ख़ाद बणाणे की विधि

शींग ख़ाद बणाणे के लिए भुख़्यटया दो वश्टुओं की आवश्यकटा होटी है- भृट गाय के शींग का ख़ोल टथा दूध देटी गाय का गोबर। यह शभी जाणटे हैं कि भारटीय शंश्कृटि भें गाय का श्थाण अट्यधिक भहट्वपूर्ण है टथा गाय का गोबर णक्सट्रीय एवं आकाशीय प्रभावों शे युक्ट होवे है। णक्सट्रीय प्रभाव णार्इट्रोजण बढ़ाणे वाली […]

शटावर की ख़ेटी करणे की विधि

शटावर अथवा शटावरी भारटवर्स के विभिण्ण भागों भें प्राकृटिक रूप शे पाई जाणे वाली बहुवस्र्ाीय आरोही लटा है। णोकदार पट्टियों वाली इश लटा को घरों टथा बगीछों भें शोभा हेटु भी लगाया जाटा है। जिशशे अधिकांश लोग इशे अछ्छी टरह पहछाणटे हैं। शटावर के औसधीय उपयोगों शे भी भारटवाशी काफी पूर्व शे परिछिट हैं टथा […]