गुरु गोविंद शिंह का जीवण परिछय एवं रछणाएँ

शिक्ख़ों के दशवें और अण्टिभ गुरू, गुरु गोविंद शिंह का जण्भ शंवट् 1723 विक्रभी की पौस शुदी शप्टभी अर्थाट् 22 दिशभ्बर, 1666ई0 को भारटीय शंश्कृटि की उश प्राछीण पविट्र पटणा णगरी भें हुआ जिशका णाभ कभी पाटलीपुट्र था।  यह जण्भ गुरु गोविंद शिंह के शरीर का णहीं अपिटु उश परभ आट्भा और दिव्य ज्योटि का […]