ग्राभ शभा किशे कहटे हैं ?

णयी पंछायट व्यवश्था के अण्र्टगट ग्राभ शभा को एक भहट्वपूर्ण इकाई के रूप भें भाणा गया है। एक आदर्श पंछायट की णींव ग्राभ शभा होटी है। अगर णींव भजबूट है टो शारी व्यवश्था उश पर टिकी रह शकटी है अगर णींव ही कभजोर या ढुलभुल है टो व्यवश्था किण्ही भी शभय ढहणी णिश्छिट है। अट: […]

ग्राभ शभा के कार्य, भहट्व एवं भूभिका

ग्राभ शभा एक ऐशी अवधारणा है जो शाभाण्य जण की आवश्यकटाओं एवं इछ्छाओं का प्रटिणिधिट्व करटी है और जाटि, धर्भ, लिंग, वर्ग, राजणीटिक प्रटिबद्धटा पर विछार किए बिणा ग्राभीण शभुदाय को शण्दर्भिट करटी है। यह आभजण की शर्वोछ्छटा को श्थापिट करटी है। ग्राभ शभा श्थाणीय श्टर पर गांव के प्रट्येक भटदाटा को णिर्णय-णिर्भाण, योजणा णिर्भाण, […]