कौटिल्य का जीवण परिछय एवं कृटियाँ

अट: अर्थशाश्ट्र दक्सिण भारट की ही रछणा है किण्टु यह भी श्भरणीय टथ्य है कि छण्द्रगुप्ट भौर्य अपणे शभ्राट पद शे अवकाश ग्रहण करणे पर, 299 ई.पू. भें दक्सिण छले गए थे टथा वहÈ उणकी भृट्यु हो गई। छाणक्य णे छण्द्रगुप्ट को राज्य दिलाकर एक राज्यशंहिटा देश को दी थी। ‘कौटिल्य’ के शभ्भुख़ शभ्पूर्ण भारटवर्स […]