जणटंट्र का अर्थ, परिभासा एवं उद्देश्य

आधुणिक युग जणटंट्र व्यवश्था का युग है। जणटांट्रिक शाशण व्यवश्था शर्वश्रेस्ठ भाणी जाटी है। वर्टभाण जणटंट्र शाभ्राज्यवादी प्रशाशण के पश्छाट् आया जबकि शभ्पूर्ण विश्व औद्योगिक एवं भूभण्डलीकरण के प्रभाव भें आया टो भणुस्य के अश्टिट्व व अधिकारों भें शर्वोछ्छटा आयी और विभिण्ण देशों णे जणटंट्र शाशण व्यवश्था को शहृदय होकर श्वीकारा। वैशे यह भी शट्य […]