Category Archives: जनसंचार

जनसंचार की अवधारणा

बीसवीं सदी के आरम्भिक समय को हम मास मीडिया का आरम्भिक काल कह सकते हैं। इस काल में संचार माध्यमों तथा संचार की तकनीक में व्यापक बदलाव आने शुरु हुए। बीसवीं शताब्दी के दूसरे-तीसरे दशक में बदलते हुए वैश्विक परिदृश्य में मीडिया के बड़ते हुए प्रभाव को देखते हुए मीडिया की शक्ति, सामाजिक प्रभाव और… Read More »

जनसंचार का अर्थ, परिभाषा, विशेषताएँ, कार्य एवं सिद्धांत

जनसंचार के माध्यम हें- समाचार पत्र, रेडियो, टेलीविजन, फिल्म, कम्प्यूटर आदि। आमतौर पर जनसंचार शब्द का प्रयोग टीवी, रेडियो, समाचार-पत्र, पत्रिका, फिल्म या संगीत रिकार्ड आदि के माध्यम से सूचना, संदेश, कला व मनोरंजन सामग्री के वितरण को दर्शाने के लिए किया जाता है। अन्तवैयक्तिक, समूह व अन्य आमने-सामने की स्थिति वाले संचार से जनसंचार… Read More »

जनसंचार क्या है?

जनसंचार शब्द अंग्रेजी भाषा के Mass Communication का हिन्दी पर्यायवाची है । इसका अभिप्राय: बहुल मात्रा में या भारी मात्रा में या भारी आकार में बिखरे लोगो या अधिक मात्रा में लोगों तक संचार माध्यम से सूचना या सन्देश पहुंचाना है । जनसंचार में जन शब्द जनसमूह, भीड व जनता को बताता है । परन्तु… Read More »

जनसंचार के माध्यम के प्रकार

आधुनिक समाज में सूचना का विशेष महत्व है । सूचना के अभाव में व्यक्ति शेष विश्व से कट जाता है। अलग-थलग पड़ जाता है। व्यक्ति के साथ-साथ देश के आर्थिक, राजनैतिक, सामाजिक एवं सांस्कृतिक विकास में सूचना और सूचना सम्प्रेषण के माध्यम अत्यन्त महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं । इस प्रकार जनसंचार का अर्थ है सूचना… Read More »

जनसंचार का सबसे पुराना माध्यम और उनका इतिहास

जनसंचार माध्यमों का इतिहास  1. दूरदर्शन – संचार का सर्वाधिक लोक-प्रचलित दृश्य-श्रव्य माध्यम है दूरदर्शन । यह वर्तमान तकनीकी युग की महत्त्वपूर्ण भेंट है । तस्वीरों को प्रसारित करने की युक्ति सन् 1890 ई. में ज्ञात हो चुकी थी । 1906 में ली.डी. फारेस्ट ने शीशे की नली से बिजली निकालकर नया प्रयोग किया तथा… Read More »

जनसंचार माध्यम का अर्थ और उनका वर्गीकरण

मुद्रण माध्यम अन्य आधुनिक माध्यमों की अपेक्षा सबसे प्राचीन है। मुद्रण के अन्तर्गत समाचार-पत्र, पत्रिकाएँ, जर्नल, पुस्तकें इत्यादि शब्द माध्यम आते है। ये लिखित माध्यम आज भी अन्य आधुनिक जनसंचार माध्यमों की अपेक्षा अत्यधिक विश्वसनीय है क्योंकि मुद्रण माध्यम अन्य माध्यमों की अपेक्षा अधिक स्वतंत्र हैं। और स्वषासित है। विश्व के प्रायः सभी विकसित एवं… Read More »