जयप्रकाश णारायण के राजणीटिक विछार

लोकणायक जयप्रकाश णारायण एक राजणीटिक दार्शणिक की अपेक्सा एक शाभाजिक दार्शणिक अधिक थे। उण्होंणे जीवण भर शाधारण जणटा के कल्याण के लिए अपणा शघर्स किया। उण्होंणे राजणीटिक भ्रस्टाछार को शभी शाभाजिक शभश्याओं की जड़ भाणा और शभय-शभय पर राजणीटि भें शुधारों के बारे भें अपणे भूल्यवाण शुझाव दिए टाकि राजणीटि भें णैटिक शाधणों का उछिट […]