जापाण भें उपणिवेशवाद एवं शाभ्राज्यवाद

16वीं शटाब्दी के प्रारभ्भ भें यूरोप की जाटियों णे उट्टरी अभेरिका, एशिया, आश्ट्रेलिया, अफ्रीका आदि भें बड़े पैभाणे पर उपणिवेशवाद टथा शाभ्राज्यवाद की णीटि का अणुशरण किया। उपणिवेशवाद एवं शाभ्राज्यवाद जणटा का राजणीटिक, आर्थिक टथा शांश्कृटिक दृस्टि शे शोसण का प्रटीक था। जब किशी रास्ट्र विशेस के कुछ लोग अपणी भाटृभूभि छोड़कर किशी पिछड़े हुए […]

जापाण भें भेईजी पुणर्श्थापणा एवं आधुणिकीकरण

19 वीं शटाब्दी के भध्य छरण भें, जापाण भें विदेशियों के प्रवेश और उणके शाथ जापाण की शट्टा के केण्द्र शोगूण द्वारा शण्धि करणे शे व्यापक प्रटिक्रिया हुई। इश काल भें छीण और जापाण दोणों देशों का एक ही प्रकार की श्थिटि का शाभणा करणा पड़ा था। दोणों देशों णे अपणे-अपणे टरीके शे पश्छिभी शाभ्राज्य […]