Category Archives: जैन दर्शन

जैन दर्शन क्या है?

साधारणत: विष्णु को देवता मानने वाले को वैष्णव, शिव को शैव, शक्ति को माननेवाले को शाक्त कहते हैं, उसी प्रकार ‘जिन’ को देवता माननेवाले को जैन कहते हैं तथा उसके धर्म को जैनधर्म कहते हैं। परन्तु जैन साहित्य में जैन धर्म और दर्शन का एक विशेष अर्थ है। ‘जिन’ शब्द का अर्थ है ‘जितने वाला’… Read More »