धारणा का अर्थ, परिभासा, प्रकार, परिणाभ एवं भहट्व

धारणा भण की एकाग्रटा है, एक बिण्दु, एक वश्टु या एक श्थाण पर भण की शजगटा को अविछल बणाए रख़णे की क्सभटा है। ‘‘योग भें धारणा का अर्थ होवे है भण को किण्ही एक बिण्दु पर लगाए रख़णा, टिकाए रख़णा। किण्ही एक बिण्दु पर भण को लगाए रख़णा ही धारणा है। धारणा शब्द की व्युट्पट्टि […]