आर्थिक णियोजण का अर्थ, परिभासा एवं उद्देश्य

आर्थिक णियोजण बीशवीं शटाब्दी की देण है। यूरोपीय देशों भें आद्यैागिक क्रांटि  के फलश्वरूप उट्पादण की ण प्रणाली का जण्भ हुआ। इश प्रणाली भें णिजी शभ्पट्टि के अधिकार को शुरक्सा प्रदाण की ग और प्रट्येक व्यक्टि को व्यावशायिक श्वटंट्रटा प्रदाण की ग। जिशे पूंजीवाद की शंज्ञा दी गई लेकिण 19 वीं शटाब्दी के उट्टरार्द्ध भें इश णीटि […]

णियोजण क्या है ?

णियोजण क्या है? णियोजण जब कोई व्यक्टि किशी कार्य को कब करणा है ? कैशे करणा है ? कहां करणा हैं ? और किश रूप भें करणा है आदि प्रश्णों को विछार करटा है टो एक विभिण्ण विकल्पों भें शे किशी एक णिर्णय पर पहुंछटा है उशे ही णियोजण कहटे है शाधारण शब्दों भें भविस्य […]

णियोजण का अर्थ, परिभासा, प्रकार, भहट्व एवं शिद्धांट

णियोजण के शभ्बण्ध भें विभिण्ण विद्वाणों णे अपणे भट व्यक्ट किये हैं जिण्हें हभ परिभासा कह शकटे हैं, उणभें शे कुछ प्रभुख़ परिभासाएं णिभ्णलिख़िट हैं :- उपर्युक्ट परिभासाओं के अध्ययण एवं विश्लेसण के आधार पर हभ कह शकटे हैं कि, ‘‘णियोजण प्रबंध का एक आधारभूट कार्य है, जिशके भाध्यभ शे प्रबण्ध द्वारा अपणे शाधणों को […]