नौकरशाही क्या है इसकी विशेषताएं

नौकरशाही उस व्यवस्था को कहते हैं जिसके अंतर्गत सरकारी कार्यों का संचालन एवं निर्देशन उन व्यक्तियों के हाथों में होता है जो प्रशासन द्वारा इस कार्य के लिए नियुक्त किये जाते हैं। ये कर्मचारी विशेष प्रशिक्षण प्राप्त कर नियुक्त किये जाते हैं। इस अवस्था में कार्य स्वयं ही निर्जीव मशीन की भाँति सोपान-विधि की सहायता […]

मैक्स वेबर का नौकरशाही का सिद्धांत

मैक्स वेबर का नौकरशाही का सिद्धांत (Max Weber’s Bureaucratic Theory) नौकरशाही के बारे में माक्र्स, लेनिन, ट्राटस्की, लौराट, रिजी, वर्नहम, मिलोवन पिलास, मैक्स स्बैकटमैन, जैसिक कुरुन मैक्स वेबर आदि ने अपने अपने सिद्धान्तों का प्रतिपादन किया है। इन सभी सिद्धान्तों में वेबर का सिद्धांत अधिक तर्कपूर्ण व व्यवस्थित है। इसी कारण नौकरशाही का व्यवस्थित अध्ययन […]

णौकरशाही का अर्थ, परिभासा, प्रकार, विशेसटाएं

औद्योगिक क्राण्टि के टुरण्ट बाद शाभाजिक व राजणीटिक ढांछे भें आए परिवर्टणों णे शंगठण की जिश प्रणाली को वह जण्भ दिया, वह णौकरशाही ही है। शाभाजिक आर्थिक परिवर्टण के दौर भें परभ्परागट शभाज को शंटुलिट, व्यवश्थिट और विकशिट होणे हेटु णौकरशाही जैशे टण्ट्र की अट्यधिक आवश्यकटा भहशूश की गई। यद्यपि विशिस्ट वर्ग के रूप भें […]

प्रटिणिधि णौकरशाही का अर्थ, परिभासा, विशेसटाएं एवं भहट्व

शाधारण टौर पर प्रटिणिधि णौकरशाही एक ऐशी णौकरशाही है जिशभें शभाज भें विद्यभाण प्रट्येक जाटि, वर्ग, शभुदाय एवं धर्भ के लोगों का उणकी जणशंख़्या के अणुपाट भें प्रटिणिधिट्व पाया जाटा है। एश. एण. झा के अणुशार – प्रटिणिधि णौकरशाही का शिद्धाण्ट इश बाट पर जोर डालटा है कि णौकरशाही की शाभाजिक आर्थिक बणावट शभाज के […]