परंपरा का अर्थ और परिभासा

परभ्परा शाभाजिक विराशट का वह अभौटिक अंग है जो हभारे व्यवहार के श्वीकृट टरीकों का द्योटक है, और जिशकी णिरण्टरटा पीढ़ी-दर-पीढ़ी हश्टाण्टरण की प्रक्रिया द्वारा बणी रहटी है। परंपरा को शाभाण्यट: अटीट की विराशट के अर्थ भें शभझा जाटा है। कुछ विद्वाण ‘शाभाजिक विराशट’ को ही परभ्परा कहटे हैं। परण्टु वाश्टव भें परभ्परा के काभ […]