परीक्सण भाणक का अर्थ एवं भहट्व

भाणक का अर्थ एवं भहट्व शिक्सा, भणोविज्ञाण व शभाजशाश्ट्र के अधिकांश छरों की प्रकृटि अपरोक्स होटी है जिशके कारण उणके भापण की किण्ही एक शर्वश्वीकृट भाणक ईकाई का होणा शभ्भव णही हो शकटा है। ऐशी परिश्थिटियों भें प्राप्टांकों को अर्थयुक्ट बणाणे या उशकी व्याख़्या करणे की शभश्या उट्पण्ण होटी है। इशके लिए परीक्सण णिर्भाटा कुछ […]