Category Archives: पर्यावरण

व्यावसायिक पर्यावरण का अर्थ, परिभाषा, घटक एवं महत्व

व्यावसायिक पर्यावरण दो शब्दों-व्यवसाय एवं पर्यावरण के संयोग से बना है। व्यवसाय, विद्यमान पर्यावरण में रहकर अपनी क्रियाओं को संचालित करता है। व्यवसाय को पर्यावरण प्रभावित करता है और व्यवसाय पर्यावरण को प्रभावित करता है। अत: दोनों ही अन्तर्सम्बन्धित हैं। वास्तव में व्यावसायिक पर्यावरण उन सभी परिस्थितियों, घटनाओं एवं कारकों का योग है जो व्यवसाय… Read More »

मानव पर्यावरण स्टॉकहोम सम्मेलन 1972 क्या है?

विकसित देशों में हुई वैज्ञानिक क्रान्ति के फलस्वरूप हुआ औद्योगीकरण पर्यावरण ही नहीं समूचे जैवमण्डल के लिए खतरनाक भी बनता गया। कई औद्योगिक इकाइयों के कारण ऐसी भयावह दुर्घटनाएँ हुई कि दुनिया हिल गई। विज्ञान के इस अभिशाप को अमेरिका, इग्लैण्ड, जापान सहित देशों में देखा गया। इन समस्याओं से परेशान होकर लोगों ने मानव… Read More »

पर्यावरण जागरूकता क्या है?

पर्यावरण हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण अंग है। पर्यावरण के प्रभाव का अध्ययन किए बिना जीवन को समझ पाना असम्भव है। पर्यावरण की रक्षा करने में लापरवाही बरतने का अर्थ अपना विनाश करना है। हम अपने दैनिक जीवन में पर्यावरणीय संसाधनो का प्रयोग करते है। इन ससाधनो में कुछ नवीनीकरण हो सकता है और कुछ… Read More »

पर्यावरण क्या है?

पर्यावरण शब्द दो शब्दों से मिलकर बना है परि+आवरण इसमें परि का अर्थ होता है चारों तरफ से’ एवं आवरण का अर्थ है ‘ढके हुए’। अंग्रेजी में पर्यावरण को Environment कहते हैं इस शब्द की उत्पकि ‘Envirnerl’ से हुई और इसका अर्थ है-Neighbonrhood अर्थात आस-पड़ोस। पर्यावरण का शाब्दिक अर्थ है हमारे आस-पास जो कुछ भी… Read More »

पर्यावरण विश्लेषण की तकनीक एवं प्रक्रिया

वातावरण के विश्लेषण से हमें मौजूदा वातावरण तथा इसमें होने वाले हर सम्भव परिवर्तनों को समझने में सहायता मिलती है। वर्तमान वातावरण को जानने के साथ-साथ भावी स्थिति का अनुमान भी लगाना पड़ता है। इससे भावी रणनीति को तैयार करने में मदद मिलती है। संक्षेप में कहा जा सकता है कि वातावरण के अध्ययन से… Read More »

पारिस्थितिक तंत्र की परिभाषा एवं प्रकार

सन 1935 में टेन्सले ने पारिस्थितिक तंत्र शब्द की रचना सर्व प्रथम की थी वह तंत्र जो दो प्रकार के घटक जैविक और अजैविक से मिलकर बना होता है वह तंत्र पारिस्थितिक तंत्र कहलाता है। 1. जैविक घटक – इसके अन्तर्गत समस्त जीवधारियों को रखा गया है इसमें जन्तु और वनस्पति दोनों सम्मिलित है ये आपस… Read More »

पर्यावरण का अर्थ, परिभाषा एवं प्रकार

पर्यावरण का अर्थ पर्यावरण शब्द परि + आवरण से मिलकर बना है परि का अर्थ है चारों ओर और आवरण का अर्थ है घिरा हुआ। अर्थात पर्यावरण का शाब्दिक अर्थ है चारों ओर से घिरा हुआ इस प्रकार अपने आप का जो कुछ भी देखते हे वही हमारा पर्यावरण है- जैसे नदी ,पहाड़, तालाब, मैदान, पेड़-पौधे,… Read More »

पर्यावरण संरक्षण के उपाय

पर्यावरण प्राणियों एवं जीवों का एक साथी है जिसकी शक्ति व सुविधा का ज्ञान जैव जगत को तब होता है जबवह किसी कारणवश कुछ हो जाये। खनिजों का शोषण करते समय मानव शायद ही कभी सोचता है कि वह क्या कर रहा है अथवा वायु मण्डल में जहरीली गैसों को छोड़ने से पूर्व वय यह… Read More »

प्रदूषण नियंत्रण करने के उपाय

हमारा जीवमण्डल एक विशाल एवं जटिल परिस्थितिकी तंत्र है जिसमें अनेक छोटे-छोटे परिस्थितिकी तंत्र पाये जाते हैं। परिस्थितिकी तंत्र में जीवों तथा पर्यावरण के बीच संतुलन रहता है। कुछ सीमा तक पर्यावरण में होने वाले परिवर्तनों को तुरंत स्थिर करने की क्षमता परिस्थितिकी तंत्र में होती है परन्तु जब कोर्इ विशेष अपनी सुख सुविधाओं के… Read More »

पर्यावरण किसे कहते हैं?

पर्यावरण शब्द ‘परि’ एवं ‘आवरण’ से मिलकर बना है। परि का अर्थ चारों ओर व आवरण का अर्थ घेरा होता है अर्थात् हमारे चारों ओर जो कुछ भी दृश्यमान एवं अदृश्य वस्तुएँ हैं, वही पर्यावरण है। दूसरे शब्दों में यह कहा जा सकता है कि हमारे आस-पास जो भी पेड़-पौधें, जीव-जन्तु, वायु, जल, प्रकाश, मिट्टी… Read More »