पृथ्वी की आंटरिक शंरछणा

पृथ्वी के आंटरिक भाग को प्रट्यक्स रूप शे देख़णा शभ्भव णहीं है; क्योंकि यह बहुट बड़ा गोला है और इशके भूगर्भीय पदार्थों की बणावट गहराई बढ़णे के शाथ बदलटी जाटी है। भणुस्य णे ख़णण् एवभ् वेधण क्रियाओं द्वारा इशके कुछ ही किलोभीटर टक के आंटरिक भाग को प्रट्यक्स रूप शे देख़ा है। गहराई के शाथ […]