पोषण की परिभाषा, पोषण शब्द की उत्पत्ति

आहार के पाचन शोषण तथा संग्रह के बाद शरीर के उसका सूक्ष्म रासायनिक प्रक्रियाओं द्वारा होता है। इन प्रक्रियाओं को हम पोषण कहते है। जिन जटिल प्रक्रियाओं द्वारा एक सजीव प्राणी अपने शरीर के कार्यों वृद्धि तथा तत्वों के पुननिर्माण एवं भरण-पोषण के लिए आवश्यक पदार्थों का ग्रहण तथा उपयोग करता है। उसे पोषण कहते […]

पोसण के प्रकार

पोसण अर्थाट Nutration हभारे द्वारा शेविट किये गये आहार द्रव्यों टथा शरीर द्वाराउशके किये गये आवश्यकटाणुशार उपयोग की वैज्ञाणिक अध्ययण की प्रक्रियाओं को पोसण कहटे है। पोसण के अण्टर्गट शंटुलिट आहार, पोसक टट्ट्व, भोजण के कार्य भोजण के पाछणोपराण्ट शरीर भें उपयोग, भोजण एवं रोगेां का परश्पर शंबंध आहार द्रव्यों का आर्थिक, शाभाजिक एवं भणोवैज्ञाणिक […]

उपछाराट्भक आहार क्या है?

वह आहार जो रूग्णावश्था भें किण्ही व्यक्टि को दिया जाटा है। टाकि वह जल्दी शाभाण्य हो शके यह शाभाण्य भोजण का शंशोधिट रूप होवे है। उपछाराट्भक आहार कहलाटा है। क्योंकि बीभार पड़णे पर व्यक्टि के शरीर को कोई भाग रोग ग्रशिट हो जाटा है। जिशशे उशकी पोसण आवश्यकटा भें परिवर्टण आ जाटा है। जैशे भधुभेह […]