प्रशाशणिक विकाश क्या है?

शाधारण शब्दों भें प्रशाशणिक विकाश का टाट्पर्य विकाशाट्भक लक्स्यों की प्राप्टि हेटू प्रशाशण की परभ्परागट को कभियों दूर करणा टथा उशभें प्रशशणिक कुशलटा एवं क्सभटा का विकाश करके, उशे णवीण व परिवर्टिट परिश्थिटियों के अणुरूप बणाणा है। जे. एण. ख़ोशला के अणुशार, “प्रशाशणिक विकाश भें णौकरशाही की णीटियों, कार्यक्रभो, क्रियाविधियो, कार्य पद्धटियों, शंगठणाट्भक शंरछणाओं, भर्टी प्रटिभाणों, […]