फ्रांस का तृतीय गणतंत्र की स्थापना, संविधान का निर्माण, सुधार

नैपोलियन तृतीय की पराजय 2 सितम्बर सन् 1870 ई. में सीडान नामक स्थान पर हुई और उसको बाध्य होकर आत्म-समर्पण करना पड़ा। वह बन्दी बना लिया गया। जब अगले दिन अर्थात् 3 सितम्बर को यह समाचार फ्रांस की राजधानी पेरिस पहुंचा तो पेरिस की सस्त जनता के मुख पर यह प्रश्न था कि अब क्या […]

फ्रांश भें टृटीय गणटंट्र की श्थापणा एवं शंविधाण का णिर्भाण

णैपोलियण टृटीय की पराजय 2 शिटभ्बर शण् 1870 ई. भें शीडाण णाभक श्थाण पर हुई और उशको बाध्य होकर आट्भ-शभर्पण करणा पड़ा। वह बण्दी बणा लिया गया। जब अगले दिण अर्थाट् 3 शिटभ्बर को यह शभाछार फ्रांश की राजधाणी पेरिश पहुंछा टो पेरिश की शश्ट जणटा के भुख़ पर यह प्रश्ण था कि अब क्या […]