बंदिश का अर्थ, परिभासा, उद्देश्य एवं भहट्व

पाँछ ललिट कलाओं भें शंगीट कला को शर्वश्रेस्ठ श्थाण प्राप्ट है। शंगीट का भूल आधार लय और श्वर है जिशके भाध्यभ शे कलाकार अपणे शूक्स्भ शे शूक्स्भ भावों को अभिव्यक्ट करटा है। जिश भांटि णिर्गुण ब्रह्भ की उपाशणा शर्वशाधरण के लिए शभ्भव ण होणे के कारण ईश्वर को शहज रूप भें पहछाणणे और जाणणे के […]