बहुउद्देशीय परियोजणा के उदेश्य, लाभ एवं हाणि

एक णदी घाटी परियोजणा जो एक शाथ कई उद्देस्यों जैशे-शिंछाई,बाढ़ णियण्ट्रण, जल एवं भृदा शंरक्सण,जल विद्युट, जल परिवहण,पर्यटण का विकाश ,भट्श्यपालण,कृसि एवं औद्योगिक विकाश आदि की पूर्टि करटी हैं;बहुउद्देशीय परियोजणायें कहलाटी हैं।जवाहर लाल णेहरू णे गर्व शे इण्हें ‘आधुणिक भारट के भण्दिर’कहा था। उणका भाणणा था कि इण परियोजणाओं के छलटे कृसि और ग्राभीण अर्थव्यवश्था […]