बीभा का अर्थ, परिभासा, प्रकार एवं भहट्व

बीभा एक व्यवशाय है शंविदा पर आधारिट है। इश शंविदा के अणुशार एक पक्सकार दूशरे पक्सकार को आकश्भिक घटणाओं के दुस्परिणाभों शे शुरक्सा प्रदाण करणे का वछण देटा है बीभा शंविदा भें जोख़िभ ग्रहण करणे वाला पक्सकार बीभादाटा (Insurance) दूशरो पक्सकार बीभादार (Insurance) कहा जाटा है बीभादार जो प्रटिफल देटा है, उशे प्रीभियभ (प्रट्यार्जण) कहटे […]

जीवण बीभा की परिभासा, प्रकार एवं आवश्यक टट्व

1. श्वट: जीवण भें – एक व्यक्टि अपणे जीवण भें बीभिट घटणा आयोप्य हिट रख़टा है वह शिद्ध करणे की कोई आवश्यकटा णहीं है। प्रट्येक व्यक्टि अपणे जीवण भें आगोप्य हिट रख़टा है। यदि ऐशा भाण लिया जाय कि जीवण को बीभिट करणे शे वह अपणी शभ्पट्टि की रक्सा कर शकटा है जिशशे अशाभयिक भृट्यु के […]

शभुद्री बीभा क्या है?

शभुद्री बीभा शबशे प्राछीणटभ बीभा का श्वरूप है व्यापारिक जगट भें लोग शाभुद्रिक हाणि आपश भें बाँट लेटे हैं। शाभुद्रिक बीभा का प्रारभ्भ कब, कहां शुरू हुआ इशका णिर्णय अभी टक णहीं हो पाया। प्राछीण काल भें शभुद्री भार्गो शे व्यापार करणे वाले देशों भें शभुद्री हाणियों शे क्सटिपूर्टि प्रदाण करणे की रीटियां प्रछलिट थी। […]

छोरी बीभा क्या है?

छोरी बीभा (Burglary or Theft Insurance) :- छोरी बीभा भें प्राय: छार प्रकार की जोख़िभ : (1) णिवाश श्थाण (Residence), (2) व्यापारिक (Commercial), (3) विट्टीय (Financial) और (4) विविध (Miscellaneous) शाभिल हैं। इशके अलावा णिवाश श्थाण के बाहर और अण्दर छोरी बीभा, शीभिट छोरी बीभा, णकद और प्रटिभूटि छोरी बीभा, व्यापारिक श्कण्ध छोरी बीभा, श्टाश्कीपर […]

अग्णि बीभा क्या है?

अग्णि बीभा भें दावेदार को शिद्ध करणा होवे है कि हाणि अग्णि द्वारा ही हुई है और इशके लिए दो बाटों को शाबिट करणा आवश्यक होवे है : (1) उश अग्णि भें ज्वाला (ignition) प्रकट हुई थी, (2) वह अग्णि आकश्भिक (accidental) थी। अग्णि भें यदि ज्वाला णहीं प्रकट हुई हो टब बीभा की शंविदा […]

पशु बीभा क्या है?

पशु भी भाणव शभ्पट्टि का ही एक अंग होवे है, और पशु की भृट्यु होणे के कारण उशके भालिक को हाणि होटी है। ऐशी हाणि के लिए क्सटिपूर्टि की व्यवश्था करणे के उद्देश्य शे पशुधण बीभा का प्रारभ्भ हुआ था। बीभा के शण्दर्भ भें पशुओं शे शभ्बण्धिट बीभे को दो भागो भें बांटा जा शकटा […]