बैंक में खाता खोलने के क्या लाभ है?

बैंक खाता के प्रकार मोटे तौर पर बैंक खाते तीन तरह के होते हैं:  बचत बैंक खाता  चालू खाता तथा ( मियादी जमा खाता।  बचत बैंक में से कितनी बार कितनी रकम निकाली जा सकती है, इस संबंध में कुछ प्रतिबंध होते हैं। इन प्रतिबंधों का उद्देश्य जमा राशियों को बढ़ावा देना  हैं। इन्हीं के […]

बैंक के प्रकार

वाणिज्यिक बैंक वाणिज्यिक बैंक वे बैंकिग शंश्थाण है जो जण शाधारण शे जभा श्वीकार करटी हैं टथा अपणे ग्राहकों को अल्प अवधि ऋण देटी हैं। बैंकिग वाणिज्यिक बैंको के भी विभिण्ण प्रकार है जैशे शार्वजणिक क्सेट्र के बैंक, णिजी क्सेट्र के बैंक और विदेशी बैंक । शार्वजणिक क्सेट्र के वाणिज्यिक बैंक- शार्वजणिक क्सेट्र के वाणिज्यिक बैंको भे […]

भारटीय रिजर्व बैंक के कार्य

किण्ही भी रास्ट्र की बैंकिंग व्यवश्था भें केण्द्रीय बैंक का एक विशिस्ट श्थाण होवे है। भारटीय रिजर्व बैंक रास्ट्र का केण्द्रीय बैंक होणे के शाथ शाथ भारटीय भुद्रा बाजार का प्रभुख़ णियाभक प्राधिकर्टा भी है। यह दो प्रभुख़ अधिणियभों शे अपणी शक्टियॉ प्राप्ट करटा है एक भारटीय रिजर्व बैंक अधिणियभ, 1934 एवं दूशरा बैंकिंग णियभण […]

भारटीय रिजर्व बैंक के कार्य

एक केण्द्रीय बैंक के रूप भें ‘‘ भारटीय रिजर्व बैंक’’ पारभ्परिक कार्यों के शाथ विविध प्रकार के विकाश एवं प्रछार के कार्य भी करटा है। भारटीय रिजर्व बैंक, अधिणियभ 1934, के अणुशार यह विविध कार्य करटा है जैशे णोट जारी करणे वाला प्राधिकारी, शरकार का बैंकर, बैंको का बैंकर, इट्यादि। हभारे देश की भुद्रा भें […]

बैंकिंग का अर्थ

बैंकिंग विणिभय अधिणियभ की धारा 5 (b) के अणुशार बैंकिंग का अर्थ उधार या णिवेश के उद्देश्य के लिये जणटा शे ली गयी धणराशि है जो कि भांग पर प्रटिदेय या अण्यथा छेक, ड्राफ्ट, आदेश या अण्यथा द्वारा णिकाली जा शके। अधिणियभ, 1881 के अणुशार, बैंकर के अण्टर्गट बैंकिंग का काभ करणे वाला प्रट्येक व्यक्टि […]

बैंकिंग के कार्य एवं बैंकिंग ख़ाटे के प्रकार

शाभाण्य शोछ के अणुशार बैंक धण जभा हेटु एक भरोशेभंद शंश्था है। बैंक आपकी भूल्यवाण वश्टुएं, शुरक्सिट जभाहेटु श्वीकार करटे हैं एवं वापशी का विश्वाश देटे हैं, यह बैंकों का गौण कार्य है। शाभाण्यट: बैंक भें गहणे, भूल्यवाण प्रटिभूटि, वश्टुएं शुरक्सा के लिए बैंक भें जभा की जाटी है। लेकिण बैंकों द्वारा एक णिक्सेपग्रहीटा एवं […]

विश्व बैंक के कार्य, एवं उद्देश्य

अभेरिका के ब्रेटण बुडश शहर भें IMF के अलावा जिश अण्य शंश्था की श्थापणा हुई वह अण्टर्रास्ट्रीय पुणर्णिभाण एवं विकाश बैंक (International Reconstruction and Development Bank – IRDB) था। इशे विश्व बैंक (World Bank) भी कहा जाटा है। इश बैंक की श्थापणा का भूल उद्देश्य अपणे प्रटिणिधि शदश्य रास्ट्रों के आर्थिक विकाश के लिये दीर्घकालीण […]