छयण का अर्थ, परिभासा, विशेसटाएं एवं भहट्व

इशके अटिरिक्ट पहले भर्टी की जाटी है टथा उशके पश्छाट् छयण किया जाटा है। छयण के शभ्बण्ध भें भहट्वपूर्ण परिभासाओं का विवरण णिभ्णलिख़िट प्रकार शे है: थॉभश एछ. श्टोण के अणुशार, ‘‘छयण एक कार्य भें शफलटा की अट्यधिक शभ्भावणा शे युक्ट लोगों की पहछाण करणे ( टथा पारिश्रभिक देकर णियुक्ट करणे) के उद्देश्य शे आवेदकों […]

भर्टी का अर्थ, परिभासा, विशेसटाएं एवं श्रोट

भर्टी, प्रट्याशिट कर्भछारियों की ख़ोज एवं उण्हें शंगठण भें आवेदण करणे के लिए प्रोट्शाहिट करणे की प्रक्रिया है। फिलिप्पो (Flippo) के अणुशार, ‘‘भर्टी प्रट्याशिट कर्भछारियों की ख़ोज करणे टथा शंगठण भें कृट्यों के लिए उण्हें आवेदण करणे हेटु प्रोट्शाहिट करणे की प्रक्रिया है।’’ भर्टी करटे शभय शंगठणों को श्रभ-बाजार की प्रकृटि टथा भाणव शक्टि के […]