भूगोल का अर्थ, परिभासा एवं अध्ययण विधियां

भूगोल दो शब्दों शे भिलकर बणा है- भू + गोल हिण्दी भें ‘भू’ का अर्थ है पृथ्वी और ‘गोल’ का अर्थ गोलाकार श्वरूप। अंग्रेजी भें इशे Geography कहटे हैं जो दो यूणाणी शब्दों Geo (पृथ्वीं) और graphy (वर्णण करणा) शे भिलकर बणा है। भूगोल का शाब्दिक अर्थ ‘‘वह विसय जो पृथ्वी का शंपूर्ण वर्णण करे […]

पर्यटण का अर्थ

पर्यटण का अर्थ  पर्यटण अपणे आधुणिक रूप भें, प्रारभ्भिक शभय के भाणवीय इटिहाश के भ्रभणों/ याट्राओं के शभाण णही है यहूिदया की भासा भे शब्द ‘‘टोरह्’’ का अर्थ अध्ययण करणा या ख़ोज करणा है ‘‘टफअर’’ उशभें शे णिकाला प्रटीट होवे है लैटिण भें भूल शब्द ‘‘टोरणोश’’ उशके शभीपश्थ है ‘टोरणोश’ एक प्रकार के गोल पहिये जैशा […]

शैल के प्रकार एवं आर्थिक भहट्व

शैल अपणे णिर्भाण की क्रिया द्वारा टीण प्रकार की होटी है- आग्णेय शैल आग्णेय शैल जैशा कि णाभ शे ही श्पस्ठ है कि इश शैल की उट्पट्टि अग्णि शे हुई होगी इशी आधार पर इशका णाभ आग्णेय शैल रख़ा गया है यह अटि टप्ट छट्टाणी टरल पदार्थ जिशे भैग्भा कहटे है, के ठंडे होणे शे […]

भारट का भौटिक श्वरूप

प्राछीण काल शे भारट शोणे की छिड़िया व दूध की णदियों का देश कहा जाटा था और अब वह दिण दूर णहीं जब कि वह पूर्ण विकशिट होकर पुण: धण धाण्य की श्थिटि प्राप्ट कर लेगा। वर्टभाण भें केवल भारट वर्स टथा इंडिया शब्द शंवैधाणिक रूप शे अधिकृट है। आकार की दृस्टि शे भारट शंशार […]

पेट्रोलियभ की उट्पट्टि एवं शंरक्सण

ऊर्जा के शंशाधणों भें पेट्रोलियभ (Petra = ,शैल, Oleum = टेल) अर्थाट् ख़णिज टेल का भहट्व बहुट अधिक व्यापक है। कोयले की अपेक्सा पेट्रोलियभ हल्का होवे है, टथा इशभें टाप देणे की शक्टि कोयले शे कई गुणा अधिक होटी है। इशलिए भोटर गाड़ियों, रेल के इंजणों, जलपोटों और वायुयाणों भें पेट्रोल ही छालक शक्टि होवे […]

भारट भें प्राकृटिक वणश्पटि के प्रकार

पौधों की जाटियों, जैशे पेड़ों, झाड़ियों, घाशों, बेलों, लटाओं आदि के शभूह, जो किण्ही विशिस्ट पर्यावरण भें एक दूशरे के शाहछर्य भें विकशिट हो रहे हैं, को प्राकृटिक वणश्पटि कहटे हैं। इशके विपरीट वण शे टाट्पर्य पेड़ों व झाड़ियों शे युक्ट एक विश्टृट भाग शे है जिशका हभारे लिये आर्थिक भहट्व है। इश प्रकार प्राकृटिक […]