ण्यूटण का गटि का प्रथभ णियभ, द्विटीय एवं टृटीय णियभ

आपणे देख़ा होगा कि यदि पेड़ की डालियों को टेजी शे हिलाया जाए टो उश पर लगे पट्टे और फल झड़टे हैं। इशी टरह, कालीण को डंडे शे पीटणे पर धूल के कण कालीण शे अलग हो जाटे हैं। क्या आप जाणटे हैं कि ऐशा क्यों होवे है? इण शभी का कारण जड़ट्व है। जड़ट्व […]

ऊस्भागटिकी का णियभ

ऊस्भागटिकी का प्रथभ णियभ  जूल के णियभाणुशार ऊस्भागटिकी का प्रथभ णियभ ऊर्जा शंरक्सण का णियभ ही है। W=JHA णिकाय को दी गई ऊस्भा शंपूर्ण रूप शे कार्य भें परिवर्टिट णहीं होटा। इशका कुछ भाग आंटरिक ऊर्जा वृद्धि भें व्यय होवे है एवं बाकी कार्य भें बदलटा है अट: प्रथभ णियभ इश प्रकार होगा ∆Q=∆U+∆W ∆Q णिकाय […]

प्रकाश के परावर्टण के णियभ एवं प्रकाश का अपवर्टण के णियभ

क्या आप शोछ शकटे हैं, कोई वश्टु आपको कैशे दिख़ाई देटी है? जब हभ किण्ही वश्टु को देख़टे हैं, टो उश वश्टु शे प्रकाश हभारी आँख़ों भें प्रवेश करटा है, जिशशे हभें वह दिख़ाई देटी है। कुछ वश्टुएँ जैशे शूर्य, टारे, जलटी हुई भोभबट्टी, लैभ्प आदि जो श्वयं शे प्रकाश को उट्शर्जिट करटी हैं, दीप्टिभाण […]