Category Archives: मनोचिकित्सा

मनोचिकित्सा का अर्थ, परिभाषा एवं प्रकार

मनोचिकित्सा शब्दार्थ में मन की चिकित्सा है। मनोचिकित्सा के अर्थ को आद्योपान्त ग्रहण करने के लिए मन के स्वरूप को समझने की आवश्यकता होती है। हम सभी परिचित हैं कि मन का स्वभाव चंचल होता है अर्थात् मन वृत्तिशील होता है। योग मनोविज्ञान में सतही रूप से हम मन को चित्त में समाहित जान सकते… Read More »

संज्ञानात्मक व्यवहारपरक चिकित्सा (Cognitive behavioral therapy या CBT) क्या है?

संज्ञानात्मक व्यवहारपरक चिकित्सा (Cognitive behavioral therapy या CBT) पद्धति एक अल्पावधि, लक्ष्य निर्धारित, मनोचिकित्सकीय उपचार है जो प्रयोगात्मक रूप से समस्या का समाधान करती है। इस पद्धति में लोगों की कठिनाइयों का कारण जानकर उनकी सोच, भावनाओं तथा संवेगों में परिवर्तन लाया जाता है यह व्यक्ति के जीवन की विभिन्न कठिन स्थितियों जैसे नींद न… Read More »

कुंठा (Frustration) का अर्थ, परिभाषा एवं लक्षण

कई बार व्यक्ति के रास्ते में अनेक प्रकार की बाधाएँ आती है जिस कारण वह कुंठित रहने लगता है। कुंठा का अर्थ हताशा और निराशा है। कुंठा का प्रमुख कारण मूल्यों का विघटन माना जाता है। ‘कुंठा’ को अंग्रेजी में ‘Frustration’ भी कहा जाता है। कुंठा का शिकार प्रत्येक उम्र के व्यक्ति हैं। हर उम्र… Read More »