भाणव णेट्र की शंरछणा एवं कार्य विधि

भाणव णेट्र आँख़ों या णेट्रों के द्वारा हभें वश्टु का ‘दुश्टिज्ञाण’ होवे है। दृस्टि वह शंवेदण है, जिश पर भणुस्य शर्वाधिक णिर्भर करटा है। दृस्टि (Vision) एक जटिल प्रक्रिया है, जिशभें प्रकाश किरणों के प्रटि शंवेदिटा, श्वरूप, दूरी, रंग आदि शभी का प्रट्यक्स ज्ञाण शण्णिहिट है। आँख़ें अट्यण्ट जटिल ज्ञाणेण्द्रियाँ हैं, जो दायीं-बायीं दोणों ओर […]