Category Archives: मार्क्सवाद

मार्क्सवाद का अर्थ, विशेषताएं, सिद्धांत, पक्ष या विपक्ष में तर्क

मार्क्सवादी विचारधारा के जन्मदाता कार्ल मार्क्स 1818-1883. तथा फ्रेडरिक एन्जिल्स 1820-1895 . है। इन दोनों विचारको ने इतिहास समाजशास्त्र विज्ञान अर्थशास्त्र व राजनीति विज्ञान की समस्याओ पर संयुक्त रूप से विचार करके जिस निश्चित विचारधारा को विश्व के सम्मुख रखा उसे मार्क्सवाद का नाम दिया गया। मार्क्सवाद का अर्थ  मार्क्सवाद क्रांतिकारी समाजवाद का ही एक रूप है।… Read More »

ऐतिहासिक भौतिकवाद का अर्थ, परिभाषा एवं मूल मान्यतायें

मार्क्स के ऐतिहासिक भौतिकवाद के सम्बन्ध में एंगेल्स ने लिखा है कि मार्क्स पहले ऐसे विचारक थे जिन्होंने ऐतिहासिक भौतिकवाद की अवधारणा को समाजविज्ञानों में रखा। ऐतिहासिक भौतिक के अतिरिक्त मार्क्स का दूसरा बड़ा योगदान अतिरिक्त मूल्य का है। मार्क्स ने अपने ऐतिहासिक भौतिकवाद के सिद्धान्त को दार्शनिक विवेचना के आधार पर निरूपित किया है।… Read More »

कार्ल मार्क्स के सिद्धांत

मार्क्सवाद प्रकृति तथा समाज के विकास के आम नियमों, समाजवादी क्रांति की विजय, समाजवाद तथा कम्यूनिज्म के निर्माण के रास्तों से सम्बंधित वैज्ञानिक विचारों की एक सुसंबद्ध प्रणाली है। कार्ल मार्क्स के सभी विचार आपस में एक दूसरे से अविभाज्य रूप से जुड़े है। कार्ल मार्क्स के विचारधारा के चार आधार स्तम्भ है। द्वन्द्वात्मक भौतिकवाद (Dialectical Materialism)… Read More »