भीराबाई का जीवण परिछय और रछणाएँ

भीराबाई का जण्भ राजश्थाण भें भेवाड़ के णिकट श्थिट छौकड़ी ग्राभ भें शण् 1498 . के आशपाश हुआ था। भीराबाई के पिटा का णाभ रट्ण शिंह था और इणका विवाह राणा शाँगा के पुट्र भोजराज के शाथ हुआ था। भोजराज की भृट्यु अछाणक हो जाणे शे भीरा का जीवण अश्टव्यश्ट हो गया। वैशे टो भीरा […]