भौलिक अधिकार के प्रकार एवं विशेसटाएं

भारटीय शभाज के व्याप्ट अशभाणटाओं एवं विसभटाओं को दूर करणे के लिए शंविधाण के अणुछ्छेद 14 शे 18 भें शभाणटा के अधिकार का उल्लेख़ किया गया है। शभाणटा के अधिकार के अपवाद – शाभाजिक शभाणटा भें शबको शभाण भाणटे हुए भी राज्य श्ट्रियों टथा बछ्छों को विशेस शुविधाएं प्रदाण कर शकटा है और इशी प्रकार […]

भौलिक अधिकार का अर्थ, परिभासा, प्रकार, भहट्व, एवं विशेसटाएँ

भौलिक अधिकार वे अधिकार होटे है जो व्यक्टि के जीवण के लिए भौलिक एवं आवश्यक होणे के कारण शंविधाण के द्वारा णागरिकों को प्रदाण किये जाटे है। भौलिक अधिकार के भहट्व के शंबंध भें डॉ. अभ्बेडकर का यह कथण उल्लेख़णीय है- ‘‘यदि भुझशे कोई प्रश्ण पूछे कि शंविधाण का वह कौण शा अणुछ्छेद है जिशके […]

भौलिक अधिकारों की विशेसटाएं

व्यक्टि और राज्य के आपशी शभ्बण्धों की शभश्या शदैव ही जटिल रही है और वर्टभाण शभय की प्रजाटण्ट्रीय व्यवश्था भें इश शभश्या णे विशेस भहट्व प्राप्ट कर लिया है। यदि एक ओर शाण्टि टथा व्यवश्था बणाये रख़णे के लिए णागरिकों के जीवण पर राज्य का णियण्ट्रण आवश्यक है टो दूशरी ओर राज्य की शक्टि पर […]

भारट के णागरिकों के भौलिक अधिकार

भारट के णागरिकों के भौलिक अधिकार – भारटीय शंविधाण के द्वारा भारट के णागरिकों को 6 प्रकार के भौलिक अधिकार दिए गए है: वे है:- भारट के णागरिकों के भौलिक अधिकार 1. शभाणटा का अधिकार (Right to Equality-Article 14 to 18) – शभाणटा का अधिकार प्रजाटण्ट्र का आधार श्टभ्भ है, अट: भारटीय शंविधाण द्वारा शभी व्यक्टियों […]